A- A A+
Last Updated : Aug 6 2021 6:36AM     Screen Reader Access
News Highlights
India's ace grappler Ravi kumar Dahiya creates history, clinches Silver Medal; Men's Hockey team snatch Bronze medal            Both houses of Parliament witness repeated adjournments over Pegasus issue and Farm Bills; adjourned for the day            PM Modi interacts with the beneficiaries of Pradhan Mantri Garib Kalyan Anna Yojana in Uttar Pradesh            India crosses another milestone in COVID-19 Vaccination Drive, crosses 49 Cr mark; recovery rate stands at 97.37%            Bombay HC asks Maha govt to consider issuing vaccination card to allow fully inoculated people to travel in local trains           

Text Bulletins Details


दोपहर समाचार

1430 HRS
19.06.2021
मुख्य समाचार:

  • देश में अब तक 27 करोड 23 लाख से अधिक कोविड टीके लगाये जा चुके हैं।


  • केन्‍द्र ने अब तक राज्‍यों और केन्‍द्रशासित प्रदेशों को 28 करोड 50 लाख से अधिक वैक्‍सीन डोज उपलब्‍ध कराई हैं।


  • देश में पिछले 24 घंटे में 60 हजार से अधिक नये कोविड रोगियों की पुष्टि हुई है। स्‍वस्‍थ होने की दर 96 दशमलव एक-छह प्रतिशत हुई।


  • गृह मंत्रालय ने राज्‍यों और केन्‍द्रशासित प्रदेशों से कहा कि वे कोविड प्रतिबंधों में छूट के बावजूद कोताही न बरतें।


  • भारतीय वायुसेना अध्‍यक्ष आर के एस भदौरिया ने कहा है कि वायुसेना नई टैक्‍नोलोजी के समावेश के साथ महत्‍वपूर्ण परिवर्तन के दौर से गुजर रही है।

     
  • राष्‍ट्र, फलाइंग सिक्‍ख के नाम से विख्‍यात मिल्‍खा सिंह को श्रद्धांजलि दे रहा है। उनका कल रात निधन हो गया था। अंतिम संस्‍कार आज शाम।


  • सोमवार को अंतर्राष्‍ट्रीय योग दिवस से पहले देशभर में कई कार्यक्रम आयोजित किये जा रहे हैं।


  • यूरो कप फुटबॉल में आज फ्रांस का मुकाबला हंगरी से और पुर्तगाल का सामना जर्मनी से होगा।


  • महिला टेस्‍ट क्रिकेट में शेफाली वर्मा अपने पहले ही टेस्ट में दो अर्धशतक लगाने वाली भारत की सबसे कम उम्र की बल्‍लेबाज बनी।

----------------

कई राज्‍यों में कोरोना लॉकडाउन में राहत दी जा रही है। ऐसे में आपसे अपील है कि कोविड महामारी के प्रति कोई भी लापरवाही न बरतें। जब तक आवश्‍यक न हो, घर से बाहर न निकलें और इन आसान उपायों का पालन कर सुरक्षित रहें।

·  मास्‍क लगायें।
·  दो गज की सुरक्षित दूरी बनाये रखें।
·  बार-बार हाथ धोएं, चेहरा साफ रखें।
·  और टीका जरूर लगवाएं

कोविड से संबंधित जानकारी और मार्गदर्शन के लिए राष्‍ट्रीय हेल्‍पलाइन काम कर रहीं हैं। इनके नंबर हैं- 011- 23 97 80 46 और 1075   

-----------

देश में अब तक 27 करोड 23 लाख से अधिक कोविड टीके लगाए जा चुके हैं। स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्‍याण मंत्रालय के अधिकारी ने बताया कि पिछले 24 घंटे में 33 लाख से अधिक टीके लगाए गए। कोविड टीकाकरण अभियान का तीसरा चरण पहले से ही चल रहा है। कोविड महामारी से लडाई में टीकाकरण बहुत महत्‍वपूर्ण उपाय है। केंद्र सरकार राज्‍यों और केंद्र शासित प्रदेशों के सहयोग से देश में टीकाकरण अभियान में तेजी लाने के निरंतर प्रयास कर रही है। 

-------------

देश में कोविड मरीजों की संख्या में और कमी आई है और यह अब घटकर सात लाख 60 हजार 19 रह गई है। इस समय यह संख्या 74 दिनों के बाद आठ लाख से भी कम है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया है कि देश में पिछले 24 घंटों के दौरान 60 हजार 753 नए लोगों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। इस दौरान 97 हजार 743 मरीज स्वस्थ भी हुए है। इन्हें मिलाकर अब तक कोविड से  स्वस्थ होने वालों की कुल संख्या दो करोड़ 86 लाख 78 हजार से अधिक हो गई है। स्वस्थ होने की दर भी बढकर 96 दशमलव एक-छह प्रतिशत हो गई है। लगातार 37वें दिन स्वस्थ होने की दैनिक संख्या नए संक्रमित हुए मामलों से कहीं ज्यादा है।

 

पिछले 24 घंटों में कोविड से एक हजार 647 मरीजों की मौत हुईं है। कोविड से मरने वालों की कुल संख्या तीन लाख 85 हजार से अधिक है।

 

देश में कोविड जांच की क्षमता में भी काफी इजाफा हुआ है। अब तक 38 करोड 92 लाख कोविड नमूनों की जांच की जा चुकी है।

------------

स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय ने कहा है कि दो करोड़ 87 लाख से अधिक कोविड टीके अब भी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के पास मौजूद हैं।

 

मंत्रालय ने कहा है कि केंद्र सरकार ने राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को अब तक 28 करोड़ 50 लाख से अधिक कोविड टीके उपलब्ध कराये हैं। मंत्रालय ने आश्वासन दिया है कि अगले तीन दिन में 52 लाख 26 हजार से अधिक और टीके राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को दिए जायेंगे।

 

कोरोना संक्रमण के खिलाफ लड़ाई में टीकाकरण एकमात्र सुरक्षा कवच है। कोविड टीकाकरण अभियान का तीसरा चरण पहले से ही चल रहा है। केंद्र सरकार राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को कोविड टीके निशुल्क उपलब्ध करा रही है।

-------------

गृह मंत्रालय ने राज्‍यों और केंद्रशासित प्रदेशों से कहा है कि कोविड महामारी की दूसरी लहर के बाद प्रतिबंधों में छूट के बावजूद कोताही न बरतें। राज्यों को कोविड को देखते हुए उचित व्‍यवहार, जांच, निगरानी, उपचार और टीकाकरण की पांच सूत्रीय रणनीति का पालन करने की सलाह दी गई है। कई राज्‍यों तथा केंद्रशासित प्रदेशों ने कोविड मरीजों की संख्‍या घटने के साथ विभिन्‍न गतिविधियों को फिर से खोलना शुरू कर दिया है।


उपचाराधीन मरीजों की संख्‍या बढ़ने या उच्‍च संक्रमण दर के आरंभिक संकेतों पर भी कड़ी नजर रखने की सलाह दी गई है। श्री भल्‍ला ने संक्रमितों  की बढ़ती संख्‍या पर काबू पाने के लिए छोटे-छोटे कंटेनमेंट जोन बनाने की नीति अपनाये जाने की सलाह दी है।


केन्‍द्रीय गृह सचिव अजय भल्‍ला ने राज्‍यों के मुख्‍य सचिवों को लिखा है कि पाबंदियां लगाने या उसमें ढील देने का फैसला जमीनी स्‍तर पर मौजूदा स्थिति के आकलन के आधार पर किया जाना चाहिए। उन्‍होंने यह भी सुनिश्चित करने के लिए कहा है कि पूरी प्रक्रिया का सावधानीपूर्वक आकलन करने के बाद ही कदम उठाए जाएं। कोरोना वायरस के बदलते स्‍वरूप को देखते हुए पर्याप्‍त परीक्षण करने के लिए भी कहा गया है। श्री भल्‍ला ने राज्‍यों और केन्‍द्रशासित प्रदेशों को सक्रिय मामलों या उच्‍च सकारात्‍मकता दर में वृद्धि के शुरूआती संकेतों पर कड़ी नजर रखने की सलाह भी दी है। उन्‍होंने प्रणाली बनाए रखने का सुझाव दिया है ताकि स्‍थानीय उपायों के जरिए सूक्ष्‍म स्‍तर पर मामलों में वृद्धि को नियंत्रित किया जा सके। केन्‍द्रीय गृह सचिव ने टीकाकरण को कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने का एक मजबूत सिस्‍टम बताते हुए सभी राज्‍यों और केन्‍द्रशासित प्रदेशों को टीकाकरण की गति तेज करने को कहा है ताकि अधिक से अधिक लोगों का टीकाकरण किया जा सके। भूपेन्‍द्र सिंह, आकाशवाणी समाचार, दिल्‍ली।

-----------

बिहार में अब तक एक करोड़ 32 लाख से अधिक कोविड टीके लगाए जा चुके है। इनमें से 33 लाख 64 हजार लोग 18 से 44 वर्ष आयु वर्ग के हैं। इस बीच, राज्य में स्वस्थ होने की दर बढ़कर 98 प्रतिशत से अधिक हो गई है जबकि पॉजिटिविटी दर घटकर एक प्रतिशत से कम रह गई है। राज्य के 38 में से 22 जिलों में कोरोना मामलों की संख्या 10 से भी कम है।

-----------

पटना उच्च न्यायालय ने पिछले एक वर्ष के दौरान राज्य में कोरोना से मरने वालों की सही संख्या सामने नहीं रखने पर राज्य सरकार को फटकार लगाई है। मुख्य न्यायाधीश संजय करोल और न्यायमू्र्ति एस.कुमार की खंडपीठ ने राज्य सरकार को जन्म और मृत्यु संबंधी विवरण प्रतिदिन वेबसाइट पर अद्यतन करने के निर्देश दिए हैं। पीठ ने कहा है कि सरकार को मौतों की संख्या बतानी ही होगी, चाहे मौत किसी भी कारण से हुई हो।

----------

मध्‍यप्रदेश सरकार ने युवा शक्ति कोरोना मुक्ति अभियान की शुरूआत की है। इस अभियान में उन युवाओं को शामिल किया जायगा जो कोविड-19 महामारी के बारे में आम लोगों को जानकारी देने का काम करेंगे। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कार्यक्रम की शुरूआत करते हुए कहा कि कॉलेज के दस लाख छात्र छात्राएं कोरोना से लडाई में महत्वपूर्ण भूमिका निभायेंगे।

 

युवा शक्ति कोरोना मुक्ति अभियान के दूसरे चरण में निजी कॉलेजों के करीब 8 लाख छात्रों को प्रशिक्षण दिया जाएगा। मुख्यमंत्री ने अभियान पर निगरानी के मोबाइल ऐप 'कोवि-संदेश' भी लॉन्च किया। इस बीच चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने बताया कि राज्य में कोरोना की तीसरी लहर को लेकर पूरी तैयारी की जा रही है । स्वास्थ्य ढांचा और स्वास्थ्य सेवाएं तैयार की जा रही हैं। राज्य स्तर पर महामारी विज्ञान के लिए एक शोध केंद्र स्थापित करने की भी योजना है, जो कोविड-19 महामारी के अध्ययन में सहायता होगी। पूजा पी वर्धन, आकाशवाणी समाचार भोपाल

----------

महाराष्‍ट्र में आज से सरकारी अस्‍पतालों में तीस से 44 वर्ष आयु वर्ग के लोगों का कोविड टीकाकरण फिर शुरू किया गया।


कोविड-19 टीकों की सीमित उपलब्‍धता के कारण महाराष्‍ट्र सराकार ने मई के दूसरे हफ्ते में सरकारी अस्‍पताल में हो रहा 18 से 44 उम्र के नागरिकों का टीकाकरण स्‍थगित करने का निर्णय लिया था। हालांकि निजी अस्‍पताल तथा कार्पोरेट टीकाकरण केन्‍द्रों में इच्‍छुक नागरिक टीका ले सकते थे। राज्‍य के आरोग्‍य विभाग ने कहा है कि अब केन्‍द्र सरकार द्वारा टीकाकरण के लिए प्राथमिकता सुनिश्चित करने के अधिकार राज्‍य सरकारों को दिये गये हैं। 45 वर्ष से अधिक उम्र के नागरिकों का टीकाकरण पहले की तरह ही शुरू रहेगा। देश में महाराष्‍ट्र ही एक मात्र ऐसा राज्‍य है, जहां कोरोना के लगभग 2 करोड़ 70 लाख टीके लगवाये गये हैं। जीवन भवसार आकाशवाणी समाचार, मुम्‍बई।

------------

मणिपुर के मुख्यमंत्री एन. बीरेन सिंह ने कहा है कि राज्य से कोविड जांच के लिए भेजे गए 20 नमूनों में से 18 में डेल्टा वैरिेएंट की पुष्टि हुई है।

 

कल इम्फाल में पोली हर्बल दवा आयुष-64 को जारी करने के लिए आयोजित समारोह में उन्होंने लोगों से कोरोना संबंधी दिशा-निर्देशों का सख्ती से पालन करने की अपील  की ताकि नए वेरिएंट के संक्रमण से बचा जा सके।

-----------

केंद्र शासित प्रदेश पुद्दुचेरी में लोगों में टीका लगवाने की उत्सुकता को देखते हुए "टीकाकरण पर्व" को 21 जून तक बढ़ा दिया गया है। प्रदेश में अब तक तीन लाख 81 हजार 216 टीके लगाए जा चुके हैं।

---------

रेलवे लगातार तरल चिकित्‍सा ऑक्‍सीजन विभिन्‍न राज्‍यों और केंद्रशासित प्रदेशों तक पहुंचा रही है। रेल मंत्रालय ने बताया है कि ऑक्‍सीजन एक्‍सप्रेस रेलगाडि़यों ने अब तक 32 हजार चार सौ 64 मीट्रिक टन तरल चिकित्‍सा ऑक्‍सीजन देश के विभिन्‍न हिस्‍सों तक पहुंचाई हैं। लगभग एक हजार आठ सौ 54 टैंकरों के माध्‍यम से यह कार्य पूरा किया गया है।  मंत्रालय ने बताया है कि चार सौ 48 ऑक्‍सीजन एक्‍सप्रेस रेलगाडि़यों ने विभिन्‍न राज्‍यों और केंद्रशासित प्रदेशों तक राहत पहुंचाई है। मंत्रालय ने कहा है कि दो ऑक्‍सीजन एक्‍सप्रेस रेलगाडि़यां एक सौ 53 मीट्रिक टन तरल चिकित्‍सा ऑक्‍सीजन आठ टैंकरों में लेकर अपने गंतव्‍य के लिए रवाना हो चुकी है। 

-----------

भारत बायोटेक, हैदराबाद ने आईसीएमआर और नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वॉयरोलॉजी -एनआईवी,  पुणे के सहयोग से कोविड रोधी वैक्सीन - कोवैक्सीन विकसित की है। एनआईवी, पुणे की निदेशक डॉक्टर प्रिया अब्राहम ने कहा है कि यह वैक्सीन कोविड के सभी वेरियंट में कारगर है। आकाशवाणी से विशेष भेंट में डॉक्टर प्रिया ने बताया कि दुनियाभर में वैज्ञानिक जीनोमिक अध्ययन में व्यस्त हैं क्योंकि कोविड के ओर भी वेरियंट्स के आने की संभावना है।


डॉक्टर प्रिया ने विस्तार से बताया कि वैक्सीन किस प्रकार काम करता है।


श्रोता यह साक्षात्कार आज रात सवा नौ बजे से आकाशवाणी के एफएम गोल्ड चैनल पर सुन सकते हैं।

-----------

एयर चीफ मार्शल राकेश कुमार सिंह भदोरिया ने आज कहा कि रफाल लडाकू विमानों को वायु सेना में शामिल करने की प्रक्रिया निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार चल रही है। वायुसेना प्रमुख आज सुबह हैदराबाद के निकट डुंडीगल में वायुसेना अकादमी की संयुक्‍त पासिंग आउट परेड की समीक्षा के बाद संवाददाताओं को संबोधित कर रहे थे। उन्‍होंने कहा कि महामारी के कारण कार्यक्रम में कुछ परिवर्तन हो सकता है लेकिन पूरा काम योजना के अनुसार ही चल रहा है। एक प्रश्‍न के उत्‍तर में उन्‍होंने कहा कि वास्‍तविक नियंत्रण रेखा- एलएसी  पर वायु सेना की रणनीतिक बढत जारी रहेगी और इस संबंध में सभी आवश्‍यक उपाय किए जा रहे हैं।

 

इससे पहले संयुक्‍त स्‍नातक परेड को संबोधित करते हुए वायु सेना प्रमुख ने कहा कि उभरती सुरक्षा चुनौतियों और पडोस में बढती भौगोलिक-राजनीतिक अनिश्चितता के कारण टैक्‍नोलोजी को तेजी से शामिल करने के साथ वायु सेना महत्‍वपूर्ण बदलाव के दौर से गुजर रही है।

 

वायु सेना प्रमुख ने कहा कि पिछले कुछ दशक में किसी भी युद्ध को जीतने में वायु सेना की भूमिका स्‍पष्‍ट रूप से स्‍थापित हो गई है। उन्‍होंने कहा कि इस संदर्भ में क्षमता बढाने का महत्‍व अत्‍यधिक बढ गया है।


इससे पहले वायुसेना प्रमुख ने अकादमी में  सफलतापूर्वक प्रशिक्षण पूरा करने वाले फ्लाइंग कैडेट को विंग्‍स और ब्रेवेट्स प्रदान किए। अकादमी से एक सौ साठ से अधिक अधिकारी उत्‍तीर्ण हुए हैं जिनमें नौसेना और तटरक्षक बल के 11 कैडेट शामिल हैं। 

---------

फ्लाइंग सिक्‍ख के नाम से विख्‍यात और पदमश्री से सम्मानित महान भारतीय धावक मिल्‍खा सिंह का अंतिम संस्‍कार आज शाम किया जायेगा। उनका कल रात निधन हो गया। वे 91 वर्ष के थे और पिछले एक महीने से कोविड से संक्रमित थे।

 

राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद ने मिल्‍खा सिंह के निधन पर शोक व्‍यक्‍त करते हुए कहा कि मिल्खा सिंह का संघर्ष और संकल्प भारतीयों के लिए प्रेरणास्रोत बना रहेगा।

 

उपराष्‍ट्रपति एम. वेंकैया नायडू ने शोक संदेश में कहा है कि अपने शानदार प्रदर्शन से मिल्‍खा सिंह ने प्रत्‍येक भारतीय को प्रेरित किया।

 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शोक संदेश में कहा कि मिल्खा सिंह के निधन से देश ने एक महान खिलाड़ी खो दिया है।

 

गृह मंत्री अमित शाह ने दुख व्यक्त करते हुए कहा कि मिल्‍खा सिंह ने खेल जगत में अमिट छाप छोड़ी है।

 

सूचना और प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने एक ट्वीट में कहा कि वे सभी के लिए हमेशा प्रेरणास्रोत बने रहेंगे।

 

केन्‍द्रीय खेल मंत्री किरेन रिजिजू ने भी मिल्‍खा सिंह के निधन पर दुख व्‍यक्‍त करते हुए एक ट्वीट में कहा कि भारत ने खेल जगत की एक अनमोल हस्ती को खो दिया है।

 

आंध्र प्रदेश के राज्‍यपाल विश्‍व भूषण हरिचंदन ने महान धावक मिल्‍खा सिंह के निधन पर शोक व्‍यक्‍त किया है।

 

पंजाब के मुख्‍यमंत्री कैप्‍टन अमरिंदर सिंह ने एक ट्वीट संदेश में कहा है कि वह मिल्‍खा सिंह के निधन से बहुत दुखी है।

 

हरियाणा के मुख्‍यमंत्री मनोहर लाल ने कहा है कि भारत ने एक महान एथलीट खो दिया है। एक ट्वीट संदेश में उन्‍होंने कहा कि मिल्‍खा सिंह भले ही हमें छोड़ गए हैं, लेकिन वे हमेशा भारतीयों के दिलों में रहेंगे। 

--------------

महान धावक मिल्‍खा सिंह को आकाशवाणी की श्रद्धांजलि-

 

फ्लाइंग सिख मिल्खा सिंह तब दौड़े जब भारत सदियों की गुलामी के बाद दुनिया में अपना गौरव वापस पाने के लिए संघर्ष कर रहा था। 1956 के मेलबर्न ओलंपिक में मिल्खा सिंह बिल्कुल रॉ मैटेरियल थे। तब भारतीय खिलाड़ियों को आज जैसी सुविधाएं भी नहीं थीं। इसके बावजूद मेलबर्न में मिल्खा छठवें स्थान पर रहे। यहां वे भले ही पदक नहीं हासिल कर पाए, लेकिन मेलबर्न यात्रा ने उन्हें नई सीख दी। आकाशवाणी को दिए एक साक्षात्कार में उन्होंने इसे यूं याद किया था।


1958 के अंदर नेशनल गेम्‍स कटक के अंदर हुई। उसके अंदर जब मैंने पहली बार उस रिकार्ड को छुआ जो लड़का मेलबर्न के अंदर फर्स्‍ट आया, ओलंपिक के अंदर तो मुझे यकीन नहीं हो रहा था कि मैं ये टाइम निकाल सकता हूं। और ये इतना चर्चा हुआ मिल्‍का सिंह का सारी दुनिया के अंदर कि ये एक नया लड़का निकला है जो कि इसने वर्ल्‍ड के मुकाबले के जो टाइमिंग्‍स हैं, उनके अंदर ये आ गया है तो मुझे यकीन नहीं था कि ये टाइम निकाल सकता हूं।


रा मैटेरियल से उड़न सिख तक की मिल्खा की जीवन यात्रा की बुनियाद बनी अमेरिकी एथलीट चार्ल्स जेनकिंस से मिली सीख। जो मेलबर्न ओलिंपिक के 400 मीटर और 4x400 मीटर रिले के विजेता रहे। मिल्खा ने जेनकिंस से उनकी ट्रेनिंग और रूटीन पूछा। जेनकिंस ने उन्हें निराश नहीं किया और सारी बातें साझा कीं। भारत लौटकर मिल्खा ने वैसी ही ट्रेनिंग ली..जिसका असर दिखा दो साल बाद टोकियो एशियाड में...जहां महज 47 सेकंड में मिल्खा ने चार सौ मीटर में स्वर्ण पदक हासिल किया..इसी साल कार्डिफ में हुए राष्ट्रमंडल खेल में भी उन्होंने 400 मीटर की दौड़ में रिकॉर्ड के साथ स्वर्णपदक जीता...और नया इतिहास रच दिया था।


मैंने करीबन कोई रोम ओलंपिक से पहले करीबन 80 इंटरनेशनल रेसिस दौड़ी हैं और अस्‍सी के अंदर मैंने 77 रेसिस जो है मैंने दुनिया के अंदर मैंने जीती हैं। जो एक रिकार्ड है दुनिया का वो मानते हैं।इसी वजह से मुझे हेलन वर्ल्‍ड ट्रॉफी मिली थी। अमरीका वालों ने दी थी 1959 के अंदर। उनसे पहले मुझे मिल गई थी, क्‍योंकि ये उन्‍होंने कहा था कि दुनिया का बेस्‍ट एथलीट है जो इतने रेसिस के अंदर और टाइमिंग जो मेरा था, जितनी रेसिस मैंने दौड़ी करीबन 46 सैकेंड के पास-पास, नीचे-ऊपर, एक आधा प्‍वाइंट नीचे, एक आधा प्‍वाइंट ऊपर सब रेसिस मैंने उसी टाइंमिंग में की। 


दो साल बाद हुए रोम ओलंपिक में सेकंड के सौंवे हिस्से से मिल्खा पदक से भले ही मिल्खा चूक गए, लेकिन तब तक वे सितारे बन चुके थे। पांच अंतरराष्ट्रीय पदक हासिल कर चुके मिल्खा को दुनिया उड़न सिख के नाम से जानने लगी। कड़ी मेहनत और सफलता से उन्होंने करोड़ों भारतीयों को यकीन दिलाया कि वे भी बाकी दुनिया जितना तेज दौड़ सकते हैं और कई बार उनसे तेज। उमेश चतुर्वेदी की रिपोर्ट के साथ समाचार कक्ष से अलका सिंह।

--------

सोमवार को अंतर्राष्‍ट्रीय योग दिवस मनाया जायेगा। इससे पहले देशभर में कई कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है।

 

संयुक्‍त राष्‍ट्र महासभा ने 11 दिसंबर, 2014 को प्रस्‍ताव पारित कर हर वर्ष 21 जून को अंतर्राष्‍ट्रीय योग दिवस मनाने की घोषणा की थी। वर्ष 2015 से यह दिवस पूरे विश्‍व में आयोजित किया जा रहा है।

 

इस वर्ष कोविड 19 महामारी को देखते हुए ज्‍यादातर स्‍थानों पर कार्यक्रमों का आयोजन वर्चुअल माध्‍यम से होगा। इस वर्ष का योग दिवस का विषय है - योग के साथ रहें, घर पर रहें'।

 

विजयवाड़ा डाक विभाग में इस उपलक्ष्‍य में कई कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है। विभाग के वरिष्ठ अधीक्षक के.वी.एल.एन मूर्ति ने मीडिया को बताया कि कर्मचारियों को योग में प्रशिक्षित करने के लिए ऑनलाइन कार्यशाला आयोजित की जा रही है।

------------

चीन स्थित भारतीय दूतावास में अंतरराष्‍ट्रीय योग दिवस कल यानि रविवार को मनाया जाएगा। इसमें लगभग 500 लोग हिस्‍सा लेगें। इस अवसर पर योग पर विभिन्‍न सत्र आयोजित किए जाएंगे। पेईचिंग में आकाशवाणी संवाददाता के साथ बातचीत में भारतीय योग गुरू मोहन भंडारी ने बताया कि चीन में योग अत्‍यधिक लोकप्रिय है। इस समय वहां 15 से अधिक योग केन्‍द्र चल रहे हैं जिनमें से कई में 10 हजार से अधिक छात्र हैं और कुछ में तो इनकी संख्‍या 50 हजार तक है।

-----------

महिला टेस्‍ट क्रिकेट में भारत की 17 वर्षीया शेफाली वर्मा अपने पहले ही टेस्ट में दो अर्धशतक लगाने वाली भारत की सबसे कम उम्र की और दुनिया की चौथी महिला बल्‍लेबाज बन गई हैं। ब्रिस्‍टल में खेले जा रहे मैच में शेफाली ने पहली पारी में 96 रन बनाए थे और दूसरी पारी में वे 55 रन पर नाबाद हैं।

 

इससे पहले, इंग्‍लैंड के खिलाफ भारतीय महिला टीम ने पहली पारी में पांच विकेट खोकर 187 रन से आगे खेलना शुरू किया और पूरी टीम 231 रन पर सिमट गई। इससे मेजबान को 165 रन की बढ़त मिल गई। 

 

फॉलोऑन करते हुए भारतीय टीम अब भी 82 रन से पीछे है। 

----------

यूरो कप फुटबॉल में ग्रुप एफ में आज फ्रांस का मुकाबला हंगरी से और पुतर्गाल का सामना जर्मनी से होगा।

 

ग्रुप-डी में कल रात क्रोएशिया और चेक गणराज्य के बीच मुकाबला 1-1 से ड्रॉ रहा।  इस ड्रॉ के साथ ही ग्रुप-डी में चेक गणराज्य शीर्ष पर पहुंच गया है।

 

इस बीच, इंग्लैंड और स्कॉटलैंड के बीच मैच भी बिना किसी गोल के ड्रॉ रहा। इंग्लैंड की टीम भी अंतिम 16 में पहुंचने के करीब आ गई है।  स्कॉटलैंड का अगला मुकाबला क्रोएशिया से होगा जबकि इंग्लैंड चेक गणराज्य के साथ खेलेगा।

---------

आज 19 जून है और आज हम याद कर रहे हैं राष्ट्रभाषा हिन्दी के साधक, देशभक्त चिंतक, विद्वान, संपादक और स्वतंत्रता संग्राम सेनानी पं. माधवराव सप्रे को।


जब भी हिंदी की पहली कहानी की चर्चा होती है, तो उनका नाम बडे सम्मान से लिया जाता है। कहा जाता है, कि माधवराव सप्रे जी की कहानी ’एक टोकरी भर मिट्टी’ ही हिंदी की पहली कहानी थी।


माधवराव सप्रे जी का जन्म 19 जून 1871 में मध्य प्रदेश के दमोह ज़िले के पथरिया ग्राम में हुआ था। समाज सुधार व हिन्दी सेवा की भावना से सन् 1900 में इन्होंने बिलासपुर ज़िले के एक छोटे से गांव पेंड्रा से सुप्रसिद्ध स्वतंत्रता सेनानी श्री वामन राव लाखे के सहयोग से “छत्तीसगढ़ मित्र“ नामक मासिक पत्रिका निकाली।


बाद में लोकमान्य तिलक के मराठी ‘केसरी‘ को ‘हिन्‍द केसरी‘ के रुप में छापा। नागपुर से ‘हिन्‍दी ग्रंथमाला‘ प्रकाशित की। सप्रे जी ने कई मराठी ग्रंथों का हिन्‍दी में अनुवाद भी किया।


पत्र-पत्रिकाओं का प्रकाशन व सम्‍पादन सदैव उनकी प्राथमिकताओं में रहा। इसी के चलते 1919-20 में वे जबलपुर आ गए और ‘कर्मवीर’ नामक पत्रिका का प्रकाशन आरम्‍भ किया। इसके संपादन का उत्तरदायित्व पं. माखन लाल चतुर्वेदी को सौंपा गया। इसके अलावा इन्होंने अखिल भारतीय साहित्य सम्मेलन की अध्यक्षता भी की।


जबलपुर में उन्होंने राष्ट्रीय हिन्दी मंदिर की स्थापना कराई।


मराठी भाषी होने के बावजूद सप्रे जी के मन में राष्ट्रभाषा हिन्‍दी के प्रति बहुत सम्मान था। वे कहा करते थे- “मैं महाराष्ट्री हूं पर हिन्‍दी के विषय में मु्झे उतना ही अभिमान है, जितना कि किसी हिन्‍दीभाषी को हो सकता है।“


उनका मानना था कि “जिस शिक्षा से स्वाभिमान की वृत्ति जाग्रत नहीं होती वह शिक्षा किसी काम की नहीं है“ “विदेशी भाषा में शिक्षा होने के कारण हमारी बुद्धि भी विदेशी हो गई है।“


23 अप्रैल, 1926 को हिन्‍दी के पहले कहानीकार पं. माधवराव सप्रे का निधन हो गया।


पं. माधवराव सप्रे के योगदान को याद करते हुए माखनलाल चतुर्वेदी ने 1926 में ‘कर्मवीर‘ में लिखा था − पं॰ माधवराव सप्रे जी अपने अस्तित्व को सर्वथा नगण्य बना कर अपने आसपास के व्यक्तियों और संस्थाओं के महत्व को बढ़ाने और उन्हें चिरंजीवी बनाने वाले सच्चे समाजसेवी थे।

------------

लद्दाख अपनी हस्‍तकलाओं के लिए चर्चित रहा है। विविध शैलियों की हस्‍तकलाओं में एक अनूठी शैली है- थांका चित्रण। आकाशवाणी लेह ने लद्दाख की हस्‍तकलाओं के प्रचार प्रसार में महत्‍वपूर्ण भूमिका निभाई है। आकाशवाणी लेह 25 जून को अपनी स्‍थापना की स्‍वर्ण जंयती मनाने जा रहा है।


चित्र कलाओं के अनुसार थंका कला तिब्बत से लद्दाख में प्रवेश किया। इस चित्र कला में बौद्ध देवी देवताओं को बनाते हैं। लद्दाख में सदियों से कुछ परिवार ने इस कला को पारंपरिक तरीके से सीखते आ रहे हैं। किसी को इस कला में रूचि हो तो वह भी इस से सीखते हैं। थंका चित्र सीखने के लिये अपना एक गुरु की आवश्यकता होती है। अब इस कला को बढ़ावा देने के लिए सेट्रल इंस्‍टीट्यूट ऑफ बुद्धिस्‍ट स्‍टेडिज़ (सीआईबीएस) जैसे शिक्षण संस्थानों में सिखाया जा रहा है। थंका कला मै कैनवास से लेकर जो अंत में चढ़ाने वाले कपड़ा थांगशम  तक ज्यादा तर काम हाथों का होता है। थंका में हर चित्र तय की हुई गणित और रूप रेखा के अनुसार बनाया जाता है। इस कला में शुरु से लेकर अंत तक लद्दाख प्रांत में ही प्राप्त प्राकृतिक चीजों को उपयोग में लाकर कार्य करते हैं। हालांकि रंग में थोड़ी बदलाव आया है। कारगारी और आकार के अनुसार एक थंका का मूल्य तीन हजार से लेकर लाखों तक होता है। लद्दाख के हर एक मठ में छोटे से लेकर बडे बड़े थंका होते हैं। और जो बडी तंगखा खास दिनों में लोगों के दर्शन के लिए रखते है। आकाशवाणी समाचार के लिये रमेश चंद्र के साथ लेह से मैं डिस्क डोल्मा।

-----------


Live Twitter Feed

Listen News

Morning News 5 (Aug) Midday News 5 (Aug) Evening News 5 (Aug) Hourly 6 (Aug) (0610hrs)
समाचार प्रभात 5 (Aug) दोपहर समाचार 5 (Aug) समाचार संध्या 5 (Aug) प्रति घंटा समाचार 6 (Aug) (0600hrs)
Khabarnama (Mor) 5 (Aug) Khabrein(Day) 5 (Aug) Khabrein(Eve) 5 (Aug)
Aaj Savere 5 (Aug) Parikrama 5 (Aug)

Listen Programs

Market Mantra 5 (Aug) Samayki 1 (Jan) Sports Scan 5 (Aug) Spotlight/News Analysis 5 (Aug) Employment News 5 (Aug) रोजगार समाचार 5 (Aug) World News 5 (Aug) Samachar Darshan 22 (Mar) Radio Newsreel 21 (Mar)
    Public Speak

    Country wide 12 (Mar) Surkhiyon Mein 5 (Aug) Charcha Ka Vishai Ha 11 (Mar) Vaad-Samvaad 17 (Mar) Money Talk 17 (Mar) Current Affairs 6 (Mar) Sanskrit Saptahiki 31 (Jul) North East Diary 5 (Aug)