A- A A+
Last Updated : Jun 19 2021 3:09PM     Screen Reader Access
News Highlights
India administers over 27 crore 23 lakh COVID vaccine doses to eligible beneficiaries in country            Centre provides over 28 crore 50 lakh Covid vaccine doses to States/UTs so far            Over 60 thousand new cases reported in last 24 hours; National Recovery Rate touches 96.16 per cent            Home Ministry cautions States/UTs not to lower their guard despite relaxation in Covid-19 restrictions            Indian Air Force Chief says Air Force undergoing monumental transformation with rapid infusion of technologies           

Text Bulletins Details


समाचार संध्या

2000 HRS
10.06.2021

मुख्य समाचार :-

  • केंद्र ने कोविड टीकाकरण और जन-स्‍वास्‍थ्‍य के मुद्दों पर आज राज्‍यों और केंद्रशासित प्रदेशों के साथ समीक्षा बैठक की।


  • सरकार ने कोरोना संक्रमित बच्‍चों के इलाज में रेमडेसिविर दवा के इस्‍तेमाल पर प्रतिबंध लगाया।


  • देश में अब तक 24 करोड से अधिक लोगों का टीकाकरण हुआ।


  • देश में कोविड से स्‍वस्‍थ होने की दर बढकर 94 दशमलव सात-सात प्रतिशत हुई।


  • प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी 12 और 13 जून को जी-7 शिखर सम्‍मेलन में वर्चुअल माध्‍यम से भाग लेंगे।


  • नगर निकायों में कार्यरत सभी दिहाड़ी और अनुबंधित श्रमिकों को कर्मचारी राज्‍य बीमा निगम के दायरे में लाया जाएगा।


  • सरकार ने लोगों से कोरोना के कारण अनाथ हुए बच्‍चों के बारे में सोशल मीडिया पर जानकारी न देने की अपील की।


  • सरकार ने एल पी जी ग्राहकों को अपनी पसंद के वितरक का चयन करने की अनुमति दी।


  • संघ लोक सेवा आयोग ने सिविल सेवा परीक्षा, 2020 के लिए 2 अगस्‍त से साक्षात्‍कार फिर शुरू करने की घोषणा की।


  • फ्रेंच ओपन टेनिस टूर्नामेंट के महिला सिंगल्‍स सेमीफाइनल में स्‍लोवेनिया की तमारा ज़िडैनसेक का मुकाबला रूस की अनास्तासिया पाव्लुचेंकोवा से जारी।

-------------

कई राज्‍यों में कोरोना लॉकडाउन में राहत दी जा रही है। ऐसे में आपसे अपील है कि कोविड महामारी के प्रति कोई भी लापरवाही न बरतें। जब तक आवश्‍यक न हो, घर से बाहर न निकलें और इन आसान उपायों का पालन कर सुरक्षित रहें।

मास्‍क लगायें।

दो गज की सुरक्षित दूरी बनाये रखें।

बार-बार हाथ धोएं, चेहरा साफ रखें।

और टीका अवश्‍य लगवाएं

कोविड से संबंधित जानकारी और मार्गदर्शन के लिए राष्‍ट्रीय हेल्‍पलाइन काम कर रहीं हैं। इनके नंबर हैं- 011-2 3 9 7 8 0 4 6 और 1075

-------------

केन्‍द्र ने कोविड टीकाकरण और जन स्‍वास्‍थ्‍य के मुद्दों पर आज राज्‍यों और केन्‍द्र शासित प्रदेशों के साथ समीक्षा बैठक की। राज्‍यों को स्‍वास्‍थ्‍यकर्मियों और फ्रंट लाइन वर्कर्स को टीके की दूसरी डोज देने पर विशेष तौर पर ध्‍यान देने को कहा गया। राज्‍यों और केन्‍द्र शासित प्रदेशों के साथ हुई इस उच्‍च स्‍तरीय बैठक की अध्‍यक्षता केन्‍द्रीय स्‍वास्‍थ्‍य सचिव राजेश भूषण ने की। बैठक में राष्‍ट्रीय कोविड टीकाकरण कार्यक्रम को लेकर जारी संशोधित दिशानिर्देशों को अमल में लाने को लेकर समीक्षा की गई। राज्‍यों को यह भी बताया गया कि कोविन प्‍लेटफार्म पर कर्इ परिवर्तन किए गए हैं जिसका उद्देश्‍य इसे और प्रभावी बनाना है। राज्‍यों को यह भी बताया गया कि कोविन प्‍लेटफार्म अब 12 भाषाओं में उपलब्‍ध है। श्री भूषण ने कहा कि स्‍वास्‍थ्‍यकर्मियों और फ्रंट लाइन वर्कर्स को टीके की दूसरी डोज कम लगी है। उन्‍होंने कहा कि यह एक गंभीर चिंता का विषय है। उन्‍होंने कहा कि स्‍वास्‍थ्‍यकर्मियों को लगने वाली पहली डोज का राष्‍ट्रीय औसत 82 प्रतिशत है जबकि दूसरी डोज का औसत सिर्फ 56 प्रतिशत है। श्री भूषण ने कहा कि पंजाब, महाराष्‍ट्र, हरियाणा, तमिलनाडु, दिल्‍ली और असम सहित 18 राज्‍यों और केन्‍द्र शासित प्रदेशों का औसत राष्‍ट्रीय औसत से कम है। स्‍वास्‍थ्‍य सचिव ने कहा कि कोविड टीकाकरण अभियान में निजी क्षेत्र की भागीदारी राज्‍यों और केन्‍द्र शासित प्रदेशों में अपेक्षा से कम देखने को मिली है। नए दिशानिर्देशों के अनुसार 25 प्रतिशत टीके न‍िजी अस्‍पतालों को दिए जाएंगे। 

-------------

केंद्र सरकार ने कोरोना संक्रमित बच्चों के उपचार में रेमडेसिविर दवा के उपयोग पर कडा प्रतिबंध लगा दिया है। 5 वर्ष से कम उम्र के बच्चों को मास्क पहनने की भी आवश्यकता नहीं है।


स्वास्थ्य सेवा महानिदेशालय ने 18 वर्ष से कम उम्र के बच्चों में कोविड प्रबंधन के लिए समग्र दिशा निर्देश जारी किये हैं। महानिदेशालय ने कहा है कि 18 वर्ष से कम उम्र के बच्चों में रेमेडीसिविर दवा के उपयोग से संबंधित सुरक्षा और इसके सकारात्मक प्रभाव से जुड़े पर्याप्त आंकड़े मौजूद नहीं हैं। यह भी कहा गया है कि बिना लक्षण वाले और हल्के लक्षण वाले बच्चों के परीक्षण कराने की आवश्यकता भी नहीं है।


निदेशालय ने सीटी स्कैन के तर्कसंगत उपयोग का सुझाव दिया है। बच्चों की ऐसी जांच तभी करने की सलाह दी गई है जब बच्‍चे में संक्रमण का प्रभाव मध्यम से गंभीर हो और स्थिति लगातार बिगड़ती जा रही हो। स्वास्थ्य महानिदेशालय ने यह भी सलाह दी है कि स्वत: स्‍टेरॉयड लेने से बचना चाहिए। दिशा-निर्देशों में सलाह दी गई है कि स्‍टेरॉयड का इस्तेमाल केवल उन बच्चों पर किया जाना चाहिए जो मध्यम या गंभीर रूप से प्रभावित हैं।

-------------

सरकार ने लोगों से आग्रह किया है कि वे कोरोना के कारण अनाथ और संकटग्रस्‍त बच्‍चों के बारे में सोशल मीडिया पर जानकारी का आदान प्रदान न करें क्‍योंकि इससे उन बच्‍चों के जीवन को खतरा हो सकता है। महिला और बाल विकास मंत्रालय ने कहा है कि इस तरह की जानकारी चाईल्‍ड लाइन 1 0 9 8 पर दी जानी चाहिए।


उच्‍चतम न्‍यायालय ने हाल ही में कोविड-19 के कारण अनाथ हुए बच्‍चों को गैर कानूनी ढंग से गोद लेने के मामलों पर चिंता व्‍यक्‍त की थी। न्‍यायालय ने राज्‍य सरकारों और केंद्रशासित प्रदेशों को इस तरह के गैरकानूनी गोद लेने के काम में लिप्‍त संस्‍थाओं के खिलाफ कार्रवाई करने को कहा है।


अनाथ बच्‍चों को गोद लेने के लिए लोगों को आमंत्रित करना गैर कानूनी कृत्‍य है क्‍योंकि इसके लिए केंद्रीय दत्‍तक ग्रहण संसाधन प्राधिकरण को शामिल करना अनिवार्य है।


कोविड 19 से माता-पिता के संक्रमित होने या उनके अस्पताल में भर्ती होने से बच्चों के सामने गंभीर संकट पैदा हो रहा है। इस महामारी ने तो कई बच्चों को अनाथ भी कर दिया हैं। केंद्र सरकार ने राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को निर्देश दिया है कि वे ऐसे बच्चों की पहचान करें, जिन्होंने पिछले साल मार्च के बाद कोविड या किसी अन्य कारण से अपने माता-पिता को खो दिया है। केंद्र सरकार ने कहा है कि ऐसे बच्चों की पहचान चाइल्ड-लाइन, स्वास्थ्य अधिकारियों, पंचायती राज संस्थानों, पुलिस या गैर सरकारी संगठनों के माध्यम से की जा सकती है। इसके अलावा यह भी निर्देश दिया गया है कि किसी भी बच्चे के माता-पिता की मृत्यु की सूचना मिलने पर, जिला बाल संरक्षण इकाइयों को प्रभावित बच्चे और उसके अभिभावक से तत्काल संपर्क करना चाहिए। बच्चे की देखभाल करने के लिए, उसकी इच्छा के आधार आकलन किया जाना चाहिए। अगर संभव नहीं हो तो बच्चे को तुरंत बाल कल्याण समिति के समक्ष पेश किया जाना चाहिए। दीपेंद्र कुमार आकाशवाणी समाचार दिल्ली।

-------------

नीति आयोग में स्वास्थ्य मामलों के सदस्य और कोविड-19 के लिए वैक्सीन प्रशासन पर राष्ट्रीय विशेषज्ञ समूह के अध्यक्ष डॉ. वी.के. पॉल ने कहा है कि जब तक 70 से 80 प्रतिशत लोगों को टीका नहीं लग जाता है, लोगों को कोविड से निपटने के लिए अत्यधिक सावधानी बरतनी होगी। उन्होंने यह बात आकाशवाणी की 'कोरोना जागरूकता श्रंखला' पर विशेष चर्चा में भाग लेते हुए कही।


हमें, जब तक हमारे देश में वैक्‍सीन 70-80 प्रतिशत व्‍यक्तियों को नहीं लग जाता, तब तक हमें चौकन्‍ना रहना है, क्‍योंकि यह वायरस अभी यहीं घूम रहा है और आपने अपना वैक्‍सीन लगाने के बाद भी मास्‍क पहनना है, दो गज की दूरी बनानी है, भीड़ में नहीं जाना है, भीड़ को पैदा नहीं करना है, पार्टियां नहीं करनी चाहे वो बाहर है, चाहे अंदर है। अंदर हैं तो खिड़कियां खोल के रखिए, बड़ा समूह अंदर मत रखिए, अंदर हैं, लोग हैं, बाहर हैं आप मास्‍क पहनिए। यह हमें अभी पूर जज्‍बे के साथ पूरे-पूरे जोश और सच्‍चाई के साथ अपनाना है।


डॉ. पॉल ने यह भी कहा कि वर्तमान में बच्चों के टीकाकरण की आवश्यकता कम है।


कुछ देशों ने 12 साल के जो बच्‍चे हैं, एडोलसेन्‍ट हैं उनको शुरू कर दिया है। लेकिन वो तब किया है, जब बहुत बड़े टर्म्स पर उन्‍होंने 18 से उम्र के व्‍यक्ति हैं उनको कवर कर लिया है, इसकी वजह समझा सकता हूं, वजह ये है कि जब बच्‍चों में संक्रमण होता है, तो वो लगभग हर बच्‍चे में संक्रमण की सिवैरिटी जो है कम होती है। बच्‍चों को पता भी नहीं होता कि उनको इनफेक्‍शन है। होता है तो मामूली सा जुकाम, तो कभी सीरियस होके अस्‍पताल ले जाना पड़े, ये होता है लेकिन बहुत कम होता है।

-------------

देश में अब तक 24 करोड़ से अधिक कोविड टीके लगाए जा चुके हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि देश में पिछले 24 घंटे में 33 लाख 79 हजार से अधिक कोविड टीके लगाए गए हैं। इनमें से लगभग 30 लाख लोगों को पहला टीका जबकि करीब 3 लाख लोगों को दूसरा टीका लगाया गया। अब तक देश में लगभग 19 करोड़ 53 लाख लोगों को पहला टीका जबकि लगभग 4 करोड़ 75 लाख लोगों को दोनों टीके लगाए जा चुके हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया है कि कोविड महामारी की रोकथाम में टीकाकरण ही एकमात्र सुरक्षा कवच है।

-------------

इस बीच, पिछले 24 घंटों में कोविड संक्रमण के 94 हजार से अधिक मामले दर्ज किये गये। एक लाख 51 हजार मरीज ठीक हुए हैं। स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने बताया है कि संक्रमण से ठीक होने वालों की दर बढकर 94 दशमलव सात-सात प्रतिशत हो गई है। देश में इस समय संक्रमित मरीजों की संख्‍या 11 लाख 67 हजार रह गई है।

-------------

झारखंड में 17 जून तक लॉकडाउन बढ़ा दिया गया है। राज्य में पूर्णबंदी आज सुबह खत्म हो रही थी। राज्य सरकार ने कुछ छूट के साथ अनलॉक-दो के दिशा-निर्देश जारी किए हैं।  राज्य में स्वास्थ्य सुरक्षा सप्ताह अब 17 जून तक प्रभावी रहेगा। सप्ताहांत पर पूर्ण लॉकडाउन 12 जून की शाम चार बजे से 14 जून की सुबह छह बजे तक रहेगा।


झारखंड में मौजूदा लॉकडाउन 17 जून तक बढ़ा दिया गया है। सप्ताहांत में राज्य में पूर्ण तालाबंदी का पालन किया जाएगा। पूर्ण लॉकडाउन के दौरान केवल चिकित्सा सुविधाओं और दुकानों को खोलने की अनुमति दी गई है। वहीं अनलॉक-2 में प्रदेश के 23 जिलों में शाम चार बजे तक सभी दुकानों को खोलने की छूट दी गई है। सबसे संक्रमित जिले पूर्वी सिंहभूम में कोई ढील नहीं दी गई है, जहां सभी दुकानें बंद रहेंगी। सभी सरकारी और निजी कार्यालय अब एक तिहाई उपस्थिति के साथ शाम चार बजे तक खुले रहेंगे। निजी वाहनों के लिए राज्य के भीतर किसी भी आवाजाही के लिए ई पास आवश्यक है। राज्य के बाहर से आने वाले लोगों के लिए 7 दिनों के होम क्वारंटाइन को अनिवार्य करते हुए अंतर्राज्यीय बसों को प्रतिबंधित कर दिया गया है। स्वास्थ्य सुरक्षा सप्ताह में अन्य मौजूदा दिशा-निर्देश समान रहेंगे। शिल्पी, आकाशवाणी समाचार, रांची।

-------------

कोविड महामारी के दौरान अस्‍पतालों में बहुत सी सकारात्‍मक स्थिति भी देखने को मिली हैं। दिल्‍ली के एक अस्‍पताल में 54 वर्षीय एक मरीज भर्ती किया गया जिसकी हालत बहुत खराब थी और ऑक्‍सीजन का स्‍तर भी बहुत कम था। इस मरीज का इलाज कर चुके वरिष्‍ठ चिकित्‍सक डॉक्‍टर आशीष खट्टर ने आकाशवाणी समाचार से बातचीत में कहा कि अपनी मजबूत इच्‍छा-शक्ति और सकारात्‍मक सोच के साथ अस्‍पताल में 35 दिनों तक भर्ती रहने के बाद यह मरीज अब बिल्‍कुल स्‍वस्‍थ हो चुका है। डॉक्‍टर खट्टर ने लोगों से अपील की है कि कोविड मामलों के लगातार कम होने के बाद भी हमें अपनी सावधानी कम नहीं करनी चाहिए।


मैं आप सभी देशवासियों से एक ही अनुरोध करूंगा प्‍लीज़ ये समझिये कि ये कोरोना महामारी लास्‍ट के दो महीने और ये वाला स्‍ट्रेन अत्‍यंत ही खतरनाक है। जिससे जो रोग फैलाने की क्षमता है इसमें बहुत ज्‍यादा है। अब लॉकडाउन धीरे-धीरे खुल रहा है। आप लोग प्‍लीज़ ये मत समझिये कि कोविड छुट्टी पे चला गया है या ये वापस नहीं आएगा। अगर हम लोग अपनी सावधानी छोड़ देंगे। कोविड फिर से वापस आ सकता है और इससे भी बुरी हालत हम लोगों की हो सकती है। तो प्‍लीज़ आप लोग सावधानी बरतिए।

-------------

आकाशवाणी का समाचार सेवा प्रभाग आज कोविड-19 पर कोरोना जागरूकता श्रृंखला के तहत हिन्‍दी और अंग्रेजी में एक विशेष फोन-इन-कार्यक्रम प्रसारित करेगा।


नई दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्‍थान-एम्‍स में मेडिसिन विभाग के डॉक्‍टर पीयूष रंजन कार्यक्रम में भाग लेंगे। श्रोता हमारे टोल फ्री नम्‍बर 1 8 0 0 1 1 5 7 6 7 और लैंड लाइन नम्‍बर 0 1 1 - 2 3 3 1 4 4 4 4 पर अपने सवाल पूछ सकते हैं। ट्विटर हैंडल @airnews s पर #tag Askair के जरिये सवाल पोस्‍ट किए जा सकते हैं। यह कार्यक्रम आज रात साढे नौ बजे से एफ एम गोल्‍ड और अतिरिक्‍त मीटरों पर सुना जा सकता है।

-------------

केन्‍द्रीय अल्‍पसंख्‍यक कार्य मंत्री मुख्‍तार अब्‍बास नकवी ने आज कहा कि भारत सरकार हज 2021 के आयोजन को लेकर सऊदी अरब के निर्णय का पालन करेगी। श्री नकवी ने कहा कि दोनों ही देशों की सरकारों के लिए लोगों का स्‍वास्‍थ्‍य और उनकी सुरक्षा सबसे बड़ी प्राथमिकता है। उन्‍होंने कहा कि भारत में जायरिनो के टीकाकरण के लिए तैयारियां की जा रही हैं। श्री नकवी मुंबई में हज 2021 को लेकर आयोजित एक बैठक की अध्‍यक्षता के बाद संवाददाताओं से बातचीत कर रहे थे। इस बैठक में सऊदी अरब में भारत के राजदूत डॉक्‍टर औसफ सैय्यद और जेद्दाह में भारत के महावाणिज्य दूत शाहिद आलम के साथ अन्‍य वरिष्‍ठ अधिकारियों ने वर्चुअल माध्‍यम से हिस्‍सा लिया। टीकाकरण अभियान पर बाते करते हुए श्री नकवी ने कहा कि एक राष्‍ट्रव्‍यापी अभियान बहुत जल्‍द शुरू किया जाएगा जिससे कोविड वैक्‍सीन को लेकर अफवाहों पर विराम लगेगा।


अफवाहें वैक्‍सीनेशन को लेकर कुछ लोगों ने जो वैक्‍सीन पर जो है वो सियासी वैक्‍सीन चढ़ाने का षड्यंत्र और साजि़श की है। उसका नुकसान कुछ जगहों पर हो रहा है और ये नुकसान लोगों की सेहत और सलामती का हो रहा है। जो लोग इस तरह की अफवाहें और आशंकाएं फैला रहे हैं वो लोगों की सेहत, सलामती के साथ-साथ मुल्‍क के भी दुष्‍मन हैं और इसलिए हमनें जागरुकता अभियान 'जान भी है, जहान भी है' जिसमें सभी स्‍टेट की हज़ कमेटी, स्‍टेट के वक्‍फ बोर्ड, सैंट्रल वक्‍फ काउंसिल, मौलाना आज़ाद एज्‍युकेशन फाउंडेशन, विमेन सैल्‍फ हेल्‍प ग्रुप्‍स और तमाम लोग जुड़ करके उन गांवों में उन दूर-दराज के इलाकों में वैक्‍सीनेशन को लेकरके जागरुकता पैदा करेंगे और यही कहेंगे कि जान है तो जहान है। इसलिए सब लोग मिल करके वैक्‍सीनेशन में शामिल हों।

-------------

केन्‍द्र, कोविड महामारी के दौरान लोगों की सुविधा के लिए बनाई गई राष्‍ट्रीय स्‍तर की हेल्पलाइन नम्बर के बारे में लोगों को जागरूक कर रहा है। सूचना और प्रसारण मंत्रालय अपने विभिन्‍न विभागों के माध्‍यम से इन हेल्‍पलाइन के बारे में जागरूकता बढा रहा है।


विभिन्‍न हेल्‍पलाइन नंबर इस प्रकार हैं -

  • कोविड संबंधी सवालों के जवाब देने के लिए स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्‍याण मंत्रालय की हेल्‍पलाइन है - 1075
  • महिला और बाल विकास मंत्रालय की चाइल्‍ड हेल्‍पलाइन - 1098 है।
  • वरिष्‍ठ नागरिकों के लिए सामाजिक न्‍याय और आधिकारिता मंत्रालय का हेल्‍पलाइन नंबर है - 14567.
  • मनोवैज्ञानिक सहायता के लिए राष्‍ट्रीय मानसिक स्‍वास्‍थ्‍य और तंत्रिका विज्ञान संस्‍थान-निमहांस का नंबर है - 08 04 61 10 007
  • आयुष कोविड परामर्श हेल्‍पलाइन नंबर है -
1 4 4 4 3 और माई गाव व्‍हाट्स ऐप हेल्‍पडेस्‍क नंबर है- 90 13 15 15 15.

-------------

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी 12 और 13 जून को जी-7 शिखर सम्‍मेलन में वर्चुअल माध्‍यम से भाग लेंगे। विदेश मंत्रालय के प्रवक्‍ता अरिंदम बागची ने आज नई दिल्‍ली में मीडिया को शिखर सम्‍मेलन की जानकारी देते हुए बताया कि वर्तमान में ब्रिटेन जी-7 समूह की अध्‍यक्षता कर रहा है।


यह दूसरी बार है जब प्रधानमंत्री जी-7 शिखर सम्‍मेलन में हिस्‍सा लेंगे। ब्रिटेन ने जी-7 के अध्‍यक्ष के रूप में चार प्राथमिकता वाले क्षेत्रों की पहचान की है। इनमें - कोरोना वायरस से निपटने के वैश्विक प्रयासों की अगुवाई करना तथा भविष्‍य में ऐसी महामारियों से निपटने के लिए सुदृढ़ ढांचा विकसित करना, समृद्ध भविष्‍य के लिए मुक्‍त व्‍यापार को बढावा देना, जलवायु परिवर्तन से निपटने के तरीके ढूंढने के साथ पृथ्‍वी के पारिस्थितिकी तंत्र को संरक्षित रखना तथा एक खुले समाज में साझा मूल्‍यों को संजोना शामिल है।


बैठक में विशेष रूप से वैश्विक स्‍तर पर कोरोना महामारी से निपटने के बारे में परस्‍पर विचार-विमर्श करना तथा स्‍वास्‍थ्‍य सेवा और जलवायु परिवर्तन पर विशेष ध्‍यान देना शामिल है।

-------------

भारत अपने नागरिकों के लिए चीन आने-जाने की सुविधा बहाल किए जाने के लिए वहां की सरकार के साथ लगातार सम्‍पर्क में है। यह सुविधा विशेष रूप से उन लोगों के लिए शुरू की जानी है, जो चीन में काम करते हैं या वहां पढाई कर रहे हैं। विदेश मंत्रालय के प्रवक्‍ता अरिंदम बागची ने बताया कि चीन के नागरिकों को भारत आने की अनुमति है। ऐसे में भारतीय नागरिकों को भी चीन जाने की सुविधा मिलनी चाहिए। 


पिछले साल नवम्‍बर से ही चीन ने भारतीय नागरिकों को वीजा देना बंद कर रखा है। इस साल मार्च में चीन के दूतावास ने एक अधिसूचना जारी कर यह कहा था कि जो लोग चीन में निर्मित टीका लगवायेंगे उन्‍हें वीजा दिया जाएगा। कई लोगों ने ऐसे टीके लगवाये लेकिन इसके बावजूद उन्‍हें चीन का वीजा जारी नहीं किया गया है। श्री बागची ने कहा कि उम्‍मीद की जाती है कि चीन की ओर से तय नियमों का पालन करने वाले भारतीय नागरिकों को जल्‍द ही वीजा मिल सकेगा।

-------------

विदेश मंत्रालय ने कहा है कि पिछले सप्‍ताह झारखंड के बोकारो से जब्‍त की गई सामग्री, यूरेनियम और रेडियोधर्मी नहीं हैं। विदेश मंत्रालय के प्रवक्‍ता अरिंदम बागची ने आज कहा कि बोकारो से संदिग्‍ध सामग्री जब्‍त किए जाने से संबंधित पाकिस्‍तान के विदेश मंत्रालय का बयान, भारत की छवि को जानबूझकर खराब करने का एक प्रयास है।


एक अन्‍य सवाल के जवाब में श्री बागची ने कहा कि भारत और दक्षिण अफ्रीका ने विश्‍व व्‍यापार संगठन से बौद्धिक सम्‍पदा अधिकार से जुडे व्‍यापार नियमों में छूट दिए जाने का अनुरोध किया है। इसे कई देशों का समर्थन मिला है। उन्‍होंने कहा कि नियमों में ढील का उद्देश्‍य विकासशील देशों के लिए दवाओं और टीकों की पहुंच आसान बनाना है।

-------------

सरकार ने यह निर्णय लिया है कि एल पी जी ग्राहक अब अपनी पसंद के अनुसार अपने वितरक का चयन कर सकते हैं। इस निर्णय से सरकार एल पी जी ग्राहकों को और सशक्‍त बनाने के साथ सभी के लिए आसानी और किफायती कीमत पर ईंधन उपलब्‍ध कराना चाहती है। पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय ने कहा कि अब ग्राहक अपने क्षेत्र में तेल विपणन कंपनियों की सूची में से अपने वितरक का चयन कर सकते हैं। इसका मतलब यह है कि ग्राहक के पास यह अधिकार होगा कि वह किस वितरक से अपना एल पी जी सिलेंडर रिफिल कराना चाहता है। शुरूआती चरण में यह विशिष्‍ट सेवा चंडीगढ़, कोयम्‍बटूर, गुरूग्राम, पुणे और रांची में शुरू होगी।

-------------

देश में राष्‍ट्रीय महत्‍व के संस्‍थानों की संख्‍या में अच्‍छी खासी बढोत्‍तरी हुई है। पिछले पांच वर्षों के दौरान देश में ऐसे संस्‍थानों में दाखिला लेने वालों की संख्‍या में 25 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। इस दौरान लड़कों की तुलना में लड़कियों तक उच्‍च शिक्षा की पहुंच बेहतर हुई है।

-------------

संघ लोक सेवा आयोग-यूपीएससी ने सिविल सेवा 2020 के लिए साक्षात्‍कार 2 अगस्‍त से फिर शुरू करने की अधिसूचना जारी की है। साक्षात्‍कार की शुरूआत अप्रैल में हुई थी, लेकिन देशभर में कोविड संक्रमण के तेजी से प्रसार को देखते हुए इसे स्‍थगित कर दिया गया था।


आयोग ने कहा है कि प्रतिभागियों को साक्षात्‍कार से संबंधित सूचना देने के लिए इलैक्‍ट्रॉनिक माध्‍यम से पत्र - ई-सम्‍मन जल्‍द ही भेजे जाएंगे। ये पत्र आयोग की बेबसाइट www.upsc.gov.in और www.upsconline.in से डाउनलोड किए जा सकेंगे। 27 जून को होने वाली सिविल सेवा प्रारंभिक परीक्षा 2021 अक्टूबर तक के लिए स्थगित कर दी गई है।

-------------

मौसम विभाग ने पुष्टि की है कि दक्षिण पश्चिम मॉनसून पूरे महाराष्‍ट्र में सक्रिय हो गया है। मौसम विभाग के वैज्ञानिक एस. के. होसालिकर ने बताया कि कोंकण क्षेत्र के लिए मौसम चेतावनी जारी की गई है, जहां अगले पांच दिनों तक तेज और बहुत अधिक वर्षा होने का अनुमान है। मुंबई, ठाणे, पालघर, पुणे और सिंधुदुर्ग के लिए ऑरेंज एलर्ट जारी किया गया है। रायगढ और रत्‍नागिरी जिलों में 14 जून तक बहुत अधिक वर्षा होने का अनुमान है।

-------------

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने मुंबई के मलाड-पश्चिम में एक इमारत के ढहने से मरने वालों के निकटतम संबंधी को प्रधानमंत्री राष्‍ट्रीय आपदा कोष से दो-दो लाख रुपये की अनुग्रह राशि देने की घोषणा की है। इस दुर्घटना में घायल लोगों को पचास-पचास हजार रुपये की सहायता दी जाएगी।


महाराष्‍ट्र सरकार ने मरने वालों के परिजनों को पांच-पांच लाख रुपये की अनुग्रह राशि देने की घोषणा की है। मुख्‍यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा है कि राज्‍य सरकार हादसे में घायल हुए लोगों के इलाज का खर्चा भी देगी।

-------------

लेह में पहला रेडियो सेट अच्छी तरह संरक्षित रखा गया है। वर्ष 1960 में पाकिस्तान से लगी सीमा पर बोगदांग के लोग तत्कालीन सरकार के ग्रामीण प्रसारण द्वारा प्रत्येक गांव को उपलब्ध कराए गए रेडियो सेट से कुछ विशेष प्रसारण केन्द्रों के कार्यक्रमों का आनन्द लेते थे। 70 वर्ष पुराना यह रेडियो सेट नुबरा में बोगदांग के एक स्थानीय मैकेनिक ने सुरक्षित रखा है।


इस महीने की 25 तारीख को आकाशवाणी लेह की स्वर्ण जयंती के अवसर पर हमारे संवाददाता की विशेष रिपोर्ट -


बोगदांग गांव को प्रदान किया गया पहला रेडियो, हालांकि वर्तमान में काम करने की स्थिति में नहीं है। फिर भी एक कीमती प्राचीन वस्‍तु के रूप में संरक्षित रखा गया है। सात दशक पहले बोगदांग के ग्रामीण अपने पसंदीदा रेडियो कार्यक्रमों को सुनने के लिए हर शाम एक जगह इकट्ठा होते थे। ऑल इंडिया रेडियो उर्दू सर्विसेज़, विविध भारती और रावल पिंडी पाकिस्‍तान से एक विशेष बाल्टी कार्यक्रम इस रेडियो सिट के माध्‍यम से सुनने और आनंद लेने के लिए लोग उत्‍सुकता से प्रतीक्षा करते थे। रेडियो सुनने में रुचि रखने वाले एक ग्रामीण अब्‍दुलशाह बाल्टी ने वो दिन याद करते हुए कहा कि--


आज भी लेह-लद्दाख के इस पहाड़ी क्षेत्र में लोग आकाशवाणी लेह से प्रसारित होने वाले रेडियो कार्यक्रमों का बेसब्री से इंतेजार करते हैं। बाल्टी बोलने वाले इस इलाके के लोग उर्दू ज्‍यादा सुनते हैं और साथ ही वे रेडियो को निर्बाध और स्‍पष्‍ट सुनना चाहते हैं। फुंसुक वांग्‍मो के साथ आकाशवाणी समाचार के लिए लेह से रमेश चंद्र।

-------------

फ्रेंच ओपन टेनिस में महिला सिंगलस के पहले सेमीफाइनल मैच में रूस की अनास्तासिया पाव्लुचेंकोवा ने स्‍लोवेनिया की तमारा ज़िडैनसेक को हराकर फाइनल में जगह बना ली है। उन्‍होंने सेमी-फाइनल में तमारा को 7-5, 6-3 से हराया। आज दूसरे सेमी-फाइनल में, ग्रीस की मारिया सकारी का मुकाबला चेक गणराज्‍य की बारबोरा क्रेजीकोवा से हो रहा है। पुरूष सिंगल्‍स और महिला डबल्‍स के सेमीफाइनल मुकाबले कल खेले जायेंगे।

-------------

तोक्यो ओलिंपिक खेलों के आयोजन में पचास से भी कम दिन रह गए हैं। आकशवाणी समाचार ने ओलिंपिक की तैयारियों को लेकर एक खास श्रृंखला शुरू की है। आज इस श्रृंखला में हम बात करेंगे टेबल टेनिस की।


टेबल टेनिस में तोक्‍यो ओलंपिक के लिये चार भारतीय खिलाडि़यों ने ओलंपिक कोटा हासिल किया है। इनमें, पुरूषों में शरत कमल, साथियान ज्ञानसेकरन और महिलाओं में मानिका बत्रा और सुतीर्था मुखर्जी पदक की दावेदारी पेश करेंगे। ओलिंपिक खेलों में इस बार टेबल टेनिस में मिक्स्ड डबल्स स्पर्धा को पहली बार शामिल किया गया है और शरत कमल और मनिका बत्रा की जोड़ी मिक्स्ड डबल्स में अपना दम-खम दिखाने के लिये तैयार है। आकाशवाणी समाचार से खास बातचीत में चौथी बार ओलंपिक के लिए क्वालीफ़ाई करने वाले शरत कमल ने बताया:-


इस बार तोक्‍यो आलंपिक में मिक्‍स्‍ड डबल्‍स को लेके हमारी काफी उम्‍मीद है। काफी अच्‍छे खेल रहे हैं और वर्ल्‍ड नम्‍बर 5 को भी हराया था। ओलंपिक क्‍वालीफायर्स में और हमारी तैयारियां भी काफी अच्‍छी चल रही थी। अगले हफ्ते मैं पुणे जाने का सोच रहा हूं। इसके बाद वापस भी कन्‍टीन्‍यू लगातार हम ट्रेनिंग में ही हैं। सो आई थिंक दैट एक्‍सपीरियंस विल प्‍ले अ वैरी इंपोटेंट रोल। देश को उम्‍मीद है कि टेबल टेनिस के ये खिलाड़ी ओलंपिक में अपना सर्वश्रेष्‍ठ प्रदर्शन करते हुए पदक की उम्‍मीद पर खरे उतरेंगे। सिद्धार्थ सिंह / स्‍पोर्टस डेस्‍क।

-------------

ओडिशा में पुरी में आयोजित होने वाली विश्‍व प्रसिद्ध रथयात्रा इस बार श्रद्धालुओं के बिना ही आयोजित होगी। राज्‍य सरकार ने कोविड महामारी को देखते हुए प्रदेश के अन्‍य मंदिरों में भी रथयात्रा नहीं आयोजित किए जाने के निर्देश दिए हैं।

-------------

Live Twitter Feed

Listen News

Morning News 19 (Jun) Midday News 19 (Jun) Evening News 18 (Jun) Hourly 19 (Jun) (1300hrs)
समाचार प्रभात 19 (Jun) दोपहर समाचार 19 (Jun) समाचार संध्या 18 (Jun) प्रति घंटा समाचार 19 (Jun) (1310hrs)
Khabarnama (Mor) 19 (Jun) Khabrein(Day) 19 (Jun) Khabrein(Eve) 18 (Jun)
Aaj Savere 19 (Jun) Parikrama 28 (Apr)

Listen Programs

Market Mantra 18 (Jun) Samayki 1 (Jan) Sports Scan 18 (Jun) Spotlight/News Analysis 18 (Jun) Employment News 18 (Jun) रोजगार समाचार 18 (Jun) World News 18 (Jun) Samachar Darshan 22 (Mar) Radio Newsreel 21 (Mar)
    Public Speak

    Country wide 12 (Mar) Surkhiyon Mein 18 (Jun) Charcha Ka Vishai Ha 11 (Mar) Vaad-Samvaad 17 (Mar) Money Talk 17 (Mar) Current Affairs 6 (Mar) Sanskrit Saptahiki 19 (Jun) North East Diary 17 (Jun)