A- A A+
Last Updated : May 30 2020 11:21PM     Screen Reader Access
News Highlights
Govt issues guidelines for phase wise re-opening of areas outside containment zones            Inter-state and intra-state movement of persons and goods allowed            PM pens letter to countrymen on first anniversary of his govt's second term            PM to address the nation in Mann ki Baat programme tomorrow            Covid-19 recovery rate improves to 47.40 per cent           

Text Bulletins Details


दोपहर समाचार

1415 HRS
07.04.2020

मुख्‍य समाचार :-

  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उन सभी डाक्‍टर, नर्स, चिकित्‍सा कर्मी और स्‍वास्‍थ्‍य देखभाल कर्मियों के प्रति आभार व्‍यक्‍त किया है जो कोविड-19 के खिलाफ लडाई लड रहे हैं।

  • रक्षामंत्री राजनाथ सिंह की अध्‍यक्षता में लॉकडाउन के बाद की स्थिति का आकलन करने के लिए मंत्रियों के एक समूह की बैठक हुई।

  • भारत, महामारी से प्रभावित पडोसी देशों को आवश्‍यक दवायें भेजेगा।

  • उप-राष्‍ट्रपति एम० वेंकैया नायडु ने कहा-सरकार कमजोर वर्गों के लिए आवश्‍यक वस्‍तुओं की उपलब्‍धता सुनिश्चित करेगी।

  • रेलवे ने आपातस्थिति से निपटने के लिए दो हजार पांच सौ बोगियों को विशेष निगरानी स्‍थलों में बदलकर 40 हजार आइसोलेशन बिस्‍तर तैयार किये। 

---------------------

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने कहा है कि हमें हर एक के स्‍वास्‍थ्‍य के लिए प्रार्थना के साथ-साथ उन डॉक्‍टर, नर्स और स्‍वास्‍थ्‍यकर्मियों के लिए भी कृतज्ञता प्रकट करनी चाहिए जो कोविड-19 महामारी से संघर्ष में दिन-रात जुटे हैं। आज विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य दिवस पर अपने संदेश में श्री मोदी ने कहा कि हमें सुरक्षित दूरी बनाए रखने जैसे निर्देशों का पालन करना चाहिए जिससे स्‍वयं के साथ दूसरों की सुरक्षा भी सुनिश्चित होगी। प्रधानमंत्री ने आशा व्‍यक्‍त की कि विश्‍व  स्‍वास्‍थ्‍य दिवस हमें वर्ष भर स्‍वास्‍थ्‍य का ध्‍यान रखने के लिए प्रेरित करेगा।

---------------------

सूचना और प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने स्वास्थ्य कर्मियों के प्रयासों की प्रशंसा की। एक ट्वीट में उन्‍होंने कहा कि राष्ट्र, विश्व स्वास्थ्य दिवस पर सभी डॉक्टरों, नर्सों और स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं का धन्यवाद करता है और कोविड-19 के खिलाफ दुनिया की लड़ाई में मदद के लिए उनके योगदान की सराहना करता है। उन्होंने कहा कि लोग घर में रहकर स्वास्थ्य कर्मियों की मदद कर सकते हैं।

---------------------

देशव्यापी लॉकडाउन और कोविड-19 से उत्पन्न वर्तमान स्थिति के आकलन के लिए आज नई दिल्ली में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के आवास पर मंत्री समूह की बैठक हुई। मंत्रियों ने इस महीने की 14 तारीख के बाद लॉकडाउन में ढील देने के संभावित उपायों पर चर्चा की। चिकित्सा सामग्री की खरीद और उपलब्धता तथा अस्पतालों की तैयारियों का भी बैठक में आकलन किया गया। बैठक में अन्य लोगों के अलावा केन्द्रीय मंत्री अमित शाह, निर्मला सीतारमण, प्रकाश जावड़ेकर, स्मृति ईरानी, पीयूष गोयल, और रामविलास पासवान शामिल थे। गृह सचिव अजय भल्ला भी बैठक में उपस्थित थे।

---------------------

भारत उन पड़ोसी देशों को उचित मात्रा में पैरासिटामोल और हाइड्रोक्‍सी क्‍लोरोक्विन का लाइसेंस देगा, जो इसके लिए हमारी क्षमताओं पर निर्भर है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्‍ता अनुराग श्रीवास्‍तव ने मीडिया के सवालों के जवाब  में कहा कि यह निर्णय कोविड-19 महामारी को देखते हुए मानवतावादी आधार पर लिया गया है। उन्‍होंने कहा कि भारत ये आवश्‍यक दवाएं महामारी से बुरी तरह प्रभावित कुछ अन्‍य देशों को भी भेजेगा। प्रवक्‍ता ने कहा कि इस मामले का राजनीतिकरण करने की कोई कोशिश नहीं की जानी चाहिए।

---------------------

कोविड-19 महामारी के कारण लॉकडाउन के बीच देश में आवश्‍यक वस्‍तुओं की निर्बाध आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए केन्‍द्र सरकार सभी कदम उठा रही है। गृह मंत्रालय ने राज्‍यों और केन्‍द्रशासित प्रदेशों को मेडिकल ऑक्‍सीजन की पर्याप्‍त आपूर्ति के लिए विशेष ध्‍यान देने को कहा है।


कोरोना महामाहरी के मद्देनजर केंद्रीय गृह सचिव ने सभी राज्‍यों के मुख्‍य सचिवों को मेडिकल ऑक्‍सीजन की आपूर्ति सुचारू बनाए रखने के लिए सभी जरूरी कदम उठाने को कहा है। मेडिकल ऑक्‍सीजन आवश्‍यक दवाओं की राष्‍ट्रीय और विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन की सूची में शामिल है। इस महामारी के रोकथाम के लिए गृह मंत्रालय ने भी विभिन्‍न मंत्रालयों, विभागों और राज्‍यों को लॉकडाउन के लिए दिशा-निर्देश जारी किए हैं। इन दिशा-निर्देशों के तहत गैस और तरल मेडिकल ऑक्‍सीजन, मेडिकल ऑक्‍सीजन सिलेंडर, तरल क्रायोजनिक सिलेंडर के भंडारन के लिए क्रायोजनिक टैंक की सभी विनिर्माण इकाइयां अपवाद के तौर पर शामिल हैं। देशभर में इन वस्‍तुओं के निर्बाध परिवहन की अनुमति है। सुपर्णा सेकिया के साथ भूपेंद्र सिंह आकाशवाणी समाचार दिल्‍ली।

---------------------

देशभर में कोविड-19 के चार हजार चार सौ 21 मामलों की पुष्टि हुई है। इनमें से तीन सौ 25 रोगी ठीक हुए हैं और उन्‍हें अस्‍पताल से छुट्टी दे दी गई है, जबकि 114 लोगों की मौत हुई है। नई दिल्‍ली में संवाददाताओं से बातचीत में स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्‍याण विभाग के संयुक्‍त सचिव लव अग्रवाल ने कहा कि कोविड-19 के प्रबंधन के लिए राज्‍यों को राष्‍ट्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मिशन के अंतर्गत 11 सौ करोड रूपये दिए गए हैं और कल तीन हजार करोड रूपये की अतिरिक्‍त राशि जारी की गई है। श्री लव अग्रवाल ने बताया कि लॉकडाउन के दौरान भारतीय खाद्य निगम के केन्द्रीय भंडारों में पर्याप्त मात्रा में अनाज उपलब्ध है।


इस लॉकडाउन की अवधि में देशभर में 605 रैक के द्वारा लगभग 16.94 लाख मीट्रिक टन फूड ग्रेन ट्रांसपोर्ट भी किया है। अब तक फूड कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया के द्वारा इस मॉडल के द्वारा 13 स्‍टेट्स में 1.3 लाख मीट्रिक टन व्‍हीट और 8 स्‍टेट्स में 1.32 लाख मीट्रिक टन राइस अलॉट किया गया है। साथ ही 4 अप्रैल को सेंट्रल पूल में फूड कॉरपोरेशन के पास अभी 55.47 लाख मीट्रिक टन अनाज अभी भी है।

---------------------

महाराष्‍ट्र में कोविड-19 से संक्रमित 23 और नये मामले आने के बाद संक्रमितों की संख्‍या 891 पहुंच गई है। नये मामलों में मुम्‍बई से 10, पिम्‍परी चिंचवाड से चार, अहमदनगर से तीन, नागपुर और बुलढाणा से दो-दो तथा ठाणे और सांगली से एक-एक मामला है। 


लॉकडाउन के दौरान, राज्य के किसी भी नागरिक को भूखमारी से बचाने के लिए विभिन्न उपाय किए जा रहे हैं। खाद्य और नागरी आपूर्ति मंत्री छगन भुजबल ने बताया कि राज्य में 1 से 5 अप्रैल के दौरान राशन दुकानों के जरिए 1,63,783 मेट्रीक टन अनाज वितरित किया गया है। वहीं लॉकडाउन अवधि के दौरान आपातकालीन सेवाएं प्रदान करने वाले राज्य परिवहन कर्मचारियों को प्रोत्साहन भत्ता देने की घोषणा, परिवहन मंत्री अनिल परब ने की है। वहीं, महाराष्ट्र स्टेट केमिस्ट्स एंड ड्रगिस्ट्स एसोसिएशन ने नागरिकों को घर-घर दवा पहुँचाने की पहल शुरू की है। यह सेवा 24 घंटे उपलब्ध है और इसका विवरण उनकी वेबसाइट पर उपलब्ध है। चिकित्सा शिक्षा मंत्री अमित देशमुख ने कोरोनावायरस बाधित नागरिकों के निदान और जांच के लिए राज्य भर की प्रयोगशालाओं की जिलावार और संस्थावार सूची घोषित की है। वहीं, भिवंडी नगर निगम ने कोरोनोवायरस संक्रमण का पता लगाने हेतु नागरिकों के स्वास्थ्य परीक्षण के लिए पांच जगहों पर क्लीनिक शुरू किया है। माधुरी पांगे, आकाशवाणी समाचार, मुंबई


केन्‍द्र सरकार द्वारा जन धन खातों में डाले गये पैसे को निकालने के लिए कई क्षेत्रों में बैंकों और पोस्‍ट ऑफिसों में भीड हो रही है, जो चिन्‍ता का विषय है। इस बीच, मुम्‍बई के आजाद मैदान पुलिस थाने में क्‍वारंटीन के आदेश के उल्‍लंघन करने पर तब्‍लीगी जमात के 150 लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है।

---------------------

मध्‍यप्रदेश में राजधानी भोपाल में आज 12 नये मामले सामने आने के बाद संक्रमित लोगों की संख्‍या बढकर 74 हो गई है। राज्‍य में अब तक ढाई सौ लोगों में इसकी पुष्टि हुई है। एक रिपोर्ट -


मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी सुधीर कुमार डेहरिया ने बताया कि इनमें से 5 लोग स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी हैं और सात मरीज पुलिस कर्मी और उनके परिवार के सदस्य हैं। भोपाल में दो संक्रमित मरीज इलाज के बाद घर चले गए हैं और एक व्यक्ति की मौत हो गई है। दूसरी ओर, कल भोपाल के इस्लामपुरा इलाके में कुछ बदमाशों द्वारा पुलिस दल पर किये गए हमले में दो पुलिस कर्मी घायल हो गए। पुलिस ने करीब एक दर्जन लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने हमले की कड़ी निंदा करते हुए कहा कि पुलिस बल पर हमला बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। इस बीच, लाकदाउन का उल्लंघन करने पर सतना में सौ से अधिक वाहनों को जब्त किया गया है और 50 लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है। वहीँ,एक दिलचस्प घटना में, श्योपुर जिले में पूर्ण तालाबंदी के दौरान पैदा हुए एक नवजात शिशु के पिता ने उसका नाम लॉकडाउन रखा है। -संजीव शर्मा, आकाशवाणी समाचार, भोपाल।

---------------------

उत्‍तरप्रदेश में कोरोना से निपटने के लिए नये तकनीकी तरीकों का इस्‍तेमाल किया जा रहा है। हमारे संवाददाता ने बताया है कि मेरठ में कुछ सैकिण्‍ड में लोगो को सेनेटाइज करने के लिए विशेष सेनेटाइजेशन कैबिन और चैम्‍बर बनाये गये हैं।


मेरठ में छावनी परिषद की ओर से अपने कर्मचारियों और उनके परिवारों की सुरक्षा के मद्देनजर एक खास सैनिटाइजेशन और कीटाणुशोधन कक्ष बनाया गया है। इस केबिन नुमा चैम्बर में सैनिटाइजर और कीटाणुशोधक रसायनों का स्प्रे होता है और कुछ सेकंड के भीतर ही बिना हाथों के इस्तेमाल के ही व्यक्ति कीटाणु मुक्त हो जाता है। छावनी परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी प्रसाद चौहान ने आकाशवाणी को बताया कि इस सुविधा का इस्तेमाल दूसरे विभागों के कर्मचारी भी कर सकते हैं ताकि जब वे अपने कार्यालय जायें तो किसी को भी कोरोना वायरस से संक्रमित होने की आशंका न रहे। कैंटोनमेंट बोर्ड अब ऐसे कई चैम्बर बाजारों और अस्पतालों के पास लगवाने की योजना बना रहा है ताकि ज्यादा से ज्यादा लोग इस सुविधा का इस्तेमाल कर सकें। मेरठ से संगीता श्रीवास्तव के साथ सुशील चंद्र तिवारी, आकाशवाणी समाचार, लखनऊ।

---------------------

आंध्रप्रदेश में कोविड-19 से संक्रमितों की संख्‍या 304 तक पहुंच गई है। कल कुरनूल में 45 वर्षीय व्‍यक्ति की मौत के बाद मृतकों की संख्‍या चार हो गई है। सबसे अधिक प्रभावित कुरनूल में 74, सिरी पोट्टी श्रीरामलू में 42 और गुंटूर में 33 मामले सामने आए हैं। छह व्‍यक्तियों को उपचार के बाद छुट्टी दे दी गई है।

---------------------

राजस्‍थान में आज कोविड-19 के 24 और नये मामलों का पता चला है। राज्‍य में संक्रमितों की संख्‍या 325 हो गई है। सबसे अधिक प्रभावित जयपुर में इस वायरस से 103 लोग संक्रमित पाए गये हैं। जोधपुर, बीकानेर, कोटा, टोंक और झुन्‍झुनू भी कोविड-19 के नये केंद्र-बिन्‍दु बनते जा रहे हैं। दूसरी तरफ भीलवाडा देश के लिए एक आदर्श बन गया है, जहां प्रशासन ने समय पर कडे फैसले लेकर इस वायरस के सामुदायिक प्रसार को सफलतापूर्वक रोका है।


कोरोना के फैलाव को रोकने के लिए इन दिनों 'भीलवाड़ा मॉडल' की चर्चा हो रही है। यहां 19 मार्च को एक निजी हॉस्पीटल के संचालक डॉक्टर में कोरोना की पुष्टि हुई थी। इस हॉस्पीटल में कई अन्य जिलों के और राज्यों के मरीज ईलाज के लिए आये थे। संक्रमित डॉक्टर ने ओपीडी में भी 800 से ज्यादा मरीजों को देखा था। प्रशासन ने स्थिति को भांपते हुए 20 मार्च को पूरे शहर में कर्फ्यू लगा दिया। इसके बाद एक के बाद एक 26 लोगों में कोरोना की पुष्टि हुई जिनमें अस्पताल के डॉक्टर, स्टाफ, वहां भर्ती मरीज और उनके परिजनों शामिल थे। स्वास्थ्य विभाग की टीमों द्वारा 10 दिनों में जिले के 25 लाख लोगों की स्क्रीनिंग की गयी। यहां अब स्थिति नियंत्रण में है और पिछले सात-आठ दिन में महज एक नया मामला सामने आया है। भीलवाड़ा मॉडल के बारे में जिला कलेक्टर राजेंद्र भट्ट बताते हैं। 


घर पे रहें, उसको सारी चीजें घर पे एसेंशियज चीजें मुहैया  हो। जैसे दूध है, राशन है, फल-सब्‍जी है। बेसिकली उसको पता होना चाहिए कि ये सब उसकी के लिए किया जा रहा है। लोगों को जब तक आप समझाएंगे नहीं और लोगों का पार्टिशिपेशन नहीं आएगा, ये एक अभियान और एक युद्ध के रूप में नहीं हो सकता। जितेन्द्र द्विवेदी, आकाशवाणी समाचार, जयपुर।

---------------------

उधर, पुणे जिले में कोरोना वायरस के 37 और नये मामले सामने आए हैं। इसके साथ ही कोविड-19 से 141 लोग संक्रमित हुए हैं। पॉजिटिव मामलों के बढने के कारण पुणे नगर निगम ने जिस इलाके से बडी संख्‍या में लोगों के संक्रमित की खबर है, उन क्षेत्रों को बंद कर दिया है। एक आदेश में बताया गया है कि ये क्षेत्र सोमवार आधी रात से अगले आदेश तक बंद कर दिये गये हैं।

---------------------

बिहार में पिछले साठ घंटों में कोरोना वायरस का कोई भी मामला सामने नहीं आया है। हमारे संवाददाता ने खबर दी है सबसे ज्‍यादा सात मुंगेर में, सिवान में छह, पटना, गया, गोपालगंज, नालंदा, बेगुसराय, सारण, लखीसराय और भागलपुर में पांच पांच मामलों की पुष्टि हुई है।


कोरोना वायरस से संक्रमित जिन पांच लोगों को अस्‍पताल से छुट्टी दी गई है, उनमें चार सीवान के हैं, इन लोगों का ट्रैवल हिस्‍ट्री मीडिल ईस्‍ट से जुड़ा हुआ है, जबकि एक व्‍यक्ति का संपर्क पटना के प्राइवेट अस्‍पताल में मुंगेर के उस युवक से हुआ था, जिसकी मौत कोरोना के कारण हो गई। राज्‍य में अ‍ब तक साढ़े तीन हजार से अधिक नमूनों की जांच की गई, जिनमें 32 पॉजिटिव पाए गए हैं। ये मामले मुंगेर, सिवान और पटना समेत छह जिलों के हैं। सरकार ने अनुपस्थित रहने वाले 76 डॉक्‍टरों के खिलाफ कार्रवाई शुरू कर दी है। आकाशवाणी समाचार के लिए कृष्‍ण कुमार लाल।

---------------------

नगालैण्‍ड में कोविड-19 से सं‍क्रमित एक भी मामला नहीं आया है। केन्‍द्र सरकार के 21 दिन के लॉकडाउन में राज्‍य सरकार इस महामारी से निपटने के लिए कोई कसर नहीं छोड रही है।

---------------------

उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू ने कहा है कि अर्थव्यवस्था की स्थिरता से कहीं अधिक महत्वपूर्ण लोगों का स्वास्थ्य है। देशव्यापी लॉकडाउन के दो सप्ताह पूरे होने के आकलन और इसके आगे की दिशा पर चर्चा करते हुए श्री नायडू ने कहा कि मौजूदा राष्ट्रव्यापी प्रतिबंधों से बाहर निकलने के बारे में कोई भी फैसला करने के लिए अगला सप्ताह महत्वपूर्ण होगा। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस के फैलाव की गति और इसके प्रभाव का विवरण मिल जाने पर ही लॉकडाउऩ समाप्त करने की रणनीति तय की जा सकती है।


लॉकडाउन से बाहर निकलने की रणनीति पर प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्रियों के बीच हुई विचार-विमर्श का हवाला देते हुए उपराष्ट्रपति ने लोगों से कहा कि वे सरकार के निर्णयों का पालन करें और यदि 14 अप्रैल के बाद भी कठिनाइयां जारी रहती हैं तो उसी प्रकार का सहयोग दें जैसे अब तक दिया है। श्री नायडू ने कहा कि सरकार सुनिश्चित करेगी कि आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति तथा समाज के कमजोर वर्गों को पर्याप्त  राहत देने की प्रक्रिया सुचारू रूप से जारी रहे।


प्रधानमंत्री की विभिन्न अपीलों पर व्यापक जन-समर्थन की चर्चा करते हुए उपराष्ट्रपति ने कहा कि यह इस बात का संकेत है कि आध्यात्मिकता भारतीय जीवन मूल्यों का आधार रही है। उन्होंने कहा कि देशवासियों ने इन जीवन मूल्यों की व्यापकता का परिचय दे दिया है। राष्ट्रीय राजधानी में तब्लीगी जमात के समागम के बारे में श्री नायडू ने कहा कि यह आयोजन रोका जा सकता था और अब इससे दूसरे लोगों को सीख लेनी चाहिए।

---------------------

कांग्रेस अध्‍यक्ष सोनिया गांधी ने प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी को पत्र लिखकर कहा है कि कोविड-19 से लड़ाई में कड़े कदम उठाना समय की मांग है। उन्‍होंने श्री मोदी से सरकार और सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों द्वारा मीडिया में दिये जा रहे विज्ञापनों पर दो साल के लिए पूर्ण प्रतिबंध लगाने की मांग की। कांग्रेस अध्‍यक्ष ने श्री मोदी से 20 हजार करोड़ रुपये की सेन्‍ट्रल विस्‍टा सौन्‍दर्यीकरण और विनिर्माण परियोजना को भी स्‍थगित करने की मांग की। उन्‍होंने कहा कि केन्‍द्र इस धनराशि का प्रयोग नये अस्‍पतालों, नैदानिक केन्‍द्रों और पीपीई खरीदने में करे।

---------------------

दिल्‍ली सरकार ने राष्‍ट्रीय राजधानी में कोविड-19 के प्रसार को रोकने के लिए पांच सूत्री कार्यक्रम तैयार किया है। मीडिया से बातचीत में दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविन्‍द केजरीवाल ने महामारी से असरदार तरीके से निपटने के लिए पांच टी - टैस्टिंग, ट्रेसिंग, ट्रीटमेंट, टीमवर्क और ट्रैकिंग की चर्चा की। जांच के महत्‍व को रेखांकित करते हुए श्री केजरीवाल ने कहा कि कोविड-19 के फैलाव वाले स्‍थानों पर एक लाख टेस्‍ट औचक किये जाएंगे। इससे प्रभावित लोगों की पहचान करने में मदद मिलेगी। उन्‍होंने कहा कि दक्षिण कोरिया की तरह यहां भी बड़े पैमाने पर जांच की जाएगी।

दिल्‍ली सरकार ने 50 हजार लोगों की जांच के लिए किट मंगायी है। शुक्रवार तक ये किट आनी शुरू हो जाएंगी और इसके बाद कोविड-19 के प्रसार वाले स्‍थानों पर अचानक और त्‍वरित जांच की जाएगी। श्री केजरीवाल ने कहा कि विस्‍तृत जांच करने की भी योजना है। उन्‍होंने कहा कि राष्‍ट्रीय राजधानी में पीपीई किट की कमी थी, लेकिन केन्‍द्र सरकार से मदद मिलने के बाद अब ये समस्‍या दूर हो गई है।

---------------------

कोविड-19 मामलों की संख्‍या में वृद्धि के बाद अहमदाबाद नगर निगम ने क्‍लस्‍टर इलाकों में वायरस के फैलाव को रोकने के लिए जांच और मोबाइल से निगरानी शुरू कर दी है। हमारी संवाददाता ने बताया है कि शहर में अब तक 77 मामलों की पुष्टि हुई है।


अहमदाबाद नगर निगम ने आज सुबह से शहर के कलस्टर कोरंटानी क्षेत्रों में कोरोना मोबाइल परीक्षण वैन शुरू की है। नगर निगम के आयुक्त विजय नेहरा ने कहा कि 7 जोन में 7 जोन वैन लगाए गए हैं और प्रत्‍येक जोन में थर्मल गन के साथ एक निगरानी टीम और नमूना संग्रह के लिए एक परीक्षण टीम है। उन्होंने कहा कि यह टीमें क्लस्टर में रहने वाले सभी लोगों के नमूनों का परीक्षण करेगी और खासतौरपर स्वास्थ्य विभाग द्वारा डोर-टू-डोर सर्वे के दौरान जिन लोगों को रेफर किया गया था, उनका परीक्षण किया जाएगा। श्री नेहरा ने बताया कि एएमसी ने आज से क्वारंटेड क्लस्टर्स को कीटाणुरहित करने के लिए ड्रोन का इस्तेमाल करना शुरू कर दिया है। अपर्णा खुंट आकाशवाणी समाचार अहमदाबाद।

---------------------

आकाशवाणी से विशेषज्ञों की सलाह श्रृंखला में हम आपको कोविड-19 पर वरिष्‍ठ चिकित्‍सा विशेषज्ञों के परामर्श से अवगत कराते हैं। आकाशवाणी समाचार से बातचीत में लोक नायक जयप्रकाश नारायण अस्पताल के डॉ. नरेश गुप्ता ने कहा कि इस महामारी के उपचार के लिए अभी कोई प्रमाणिक औषधि नहीं है।


देखिए मेडिसन तो इसकी, ये चूकि नया रूप लेकर आया है वायरस, तो नया मेडिसन तो खोजना पड़ेगा। कुछ पुरानी मेडिसन और कुछ नई मेडिसन दोनों की दोनों देखने में आ रही हैं और अब तीन महीने में यह देखा गया है कि कुछ एंटीवायरल दवाइयां हैं, जो कि इसमें कारगर हो सकती हैं और वो इस्‍तेमाल भी होता है अगर सीरियस बीमारी हो तो। इसके वैक्‍सीन की बात चल रही है और वैक्‍सीन एक तरह से बन गई है, लेकिन जब तक वैक्‍सीन के ऊपर रिसर्च नहीं हो जाएगी, रिसर्च मतलब ये कि वो वैक्‍सीन, हम स्‍वस्‍थ लोगों को दे दें और उनको कोई दिक्‍कत नहीं होगी, तब तो होम मार्केट में नहीं आएगी। बाकी जो है दवाईयां रोकने के लिए कुछ दवाइयां स्‍वास्‍थ्‍यकर्मियों को दी जाती हैं, क्‍योंकि वो रोजराजे आते हैं। आईसीएमआर ने कहा है कि वो दे दी जाएं, लेकिन कॉमन मैन के लिए ऐसी कोई दवाइयां नहीं है जो कि हम देकर ये कहें कि उनसे बचाव होगा।


जी.बी. पंत अस्‍पताल, दिल्‍ली के डॉ. संजय पांडेय ने बताया कि जिन लोगों में लक्षण दिखाई दे रहे हैं, अऩके अलावा अन्य लोगों को भी मास्क पहनना चाहिए।


माक्‍स बनाने के लिए काफी गाडलाइंस डब्‍ल्‍यूएचओ ने समय-समय पर जारी की हैं। यह बड़ा क्‍लीयर है कि माक्‍स की जरूरत उन इंसानों को है, जिनको हेल्‍थ सेक्‍टर में अगर वो काम कर रहे हैं या उनका डायरेक्‍ट किसी कोरोना के मरीज के इलाज में या उनके कोरेंटाइन में उनकी भूमिका है, लेकिन अगर आप घर में रह रहे हैं और स्‍वस्‍थ हैं, आपको किसी भी तरह की तकलीफ नहीं हैं, अभी फ्लू के लक्षण नहीं हैं, तो आपको माक्‍स पहनने की जरूरत नहीं है। लेकिन हां अगर आप बाहर जा रहे हैं तो यह बेहतर होगा कि आप माक्‍स का प्रयोग करें, क्‍योंकि इससे आपकी सुरक्षा तो होगी ही, दूसरे लोगों की भी सुरक्षा होगी।

---------------------

देशभर में नोवेल कोरोना के बढ़ते मामलों के देखते हुए स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय ने महामारी फैलने से रोकने के लिए कई परामर्श जारी किए हैं। 


सरकार ने कहा है कि आवश्‍यक वस्‍तुओं की पर्याप्‍त आपूर्ति जारी है और लोगों को चिंता करने की कोई जरूरत नहीं है। लोगों को सलाह दी जाती है कि वे आवश्‍यक वस्‍तुओं और चिकित्‍सा के सामान की खरीददारी करते समय धैर्य रखें और शांत रहें। आवश्‍यक वस्‍तुओं को खरीदने के लिए बार-बार बाहर निकलने से बचें। साथ ही लोगों को हाथ मिलाने और गले गलने से भी बचना चाहिए। बाजार, मेडिकल स्‍टोर और अस्‍पतालों में लोग कम से कम एक मीटर की दूरी रखें। घर पर गैर-जरूरी सामाजिक समारोह से बचा जाना चाहिए और घर पर मेहमानों को नहीं बुलाना चाहिए। लोगों को अपनी आंख, नाक और मुंह को छूने से बचना चाहिए और लगातार हाथ साफ करते रहना चाहिए। हाथ को दोनों तरफ से कम से कम 20 सेकेण्‍ड तक धोना चाहिए। यदि कोई  व्‍यक्ति खांसी या बुखार से पीडि़त है तो वह दूसरों के संपर्क में आने से बचे और डॉक्‍टर से तुरंत परामर्श ले।  स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने कोरोना वायरस के बारे में जानकारी के लिए एक टॉल फ्री नम्‍बर- 1075 जारी किया है।

---------------------

भारतीय रेलवे ने व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरण-पीपीई मिशन मोड पर तैयार करने के अपने प्रयास तेज कर दिये हैं। रेलवे की हरियाणा में जगाधरी कार्यशाला में बनाए जा रहे पीपीई ओवरऑल को हाल ही में रक्षा अऩुसंधान और विकास संगठन की प्रयोगशाला ने स्‍वीकृति दी है।


विभिन्न स्थानों पर रेलवे की 17 कार्यशालाओं में पीपीई ओवरऑल बनाने के लिए अब अनुमोदित डिजाइन और सामग्री प्रयोग की जाएगी। पीपीई ओवरऑल से करोना रोगियों के उपचार में लगे रेलवे के डॉक्टर और अन्य चिकित्सा कर्मियों को आवश्‍यक बचाव में मदद मिलेगी।

---------------------

रेलवे ने कोविड-19 से निपटने के लिए ढाई हजार बोगियों को विशेष निगरानी स्‍थलों में परिवर्तित कर दिया है। रेलवे ने आपात स्थिति के लिए 40 हजार बिस्‍तर तैयार किये हैं। प्रतिदिन लगभग 375 बोगियों को विशेष निगरानी वाली कोच में बदला जा रहा है। यह काम 133 स्‍थानों पर चल रहा है। रेल मंत्रालय ने बताया कि ये बोगियां केवल आपात स्थिति के लिए तैयार की जा रही है।

---------------------

भारतीय विमान पत्‍तन प्राधिकरण-एएआई की महिला कल्‍याण शाखा-कल्‍याणमयी भी जरूरतमंदों की मदद के लिए आगे आई है। इस शाखा में एएआई की महिलाकर्मी और उनके परिवार के सदस्‍य शामिल हैं। गुवाहाटी और दूसरे पूर्वोत्‍तर हवाई अड्डों पर कल्‍याणमयी के सदस्‍य बिना इस्‍तेमाल किये गये कपड़े, चादरें और ऐसी ही वस्‍तुएं मास्‍क बनाने के लिए इकट्ठा कर रहे हैं। ये घर के कपड़ों से मास्‍क बना रहे हैं और इनका लक्ष्‍य पूर्वोत्‍तर में 10 हजार मास्‍क तैयार करने का है। लगभग तीन हजार मास्‍क तैयार किये जा चुके हैं। इनका निर्माण स्‍व-सहायता समूहों ने किया है। ये स्‍व-सहायता समूहों विशेषकर महिलाओं ने कल्‍याणमयी के लिए मास्‍क तैयार किये हैं।

---------------------

केन्‍द्रशासित लद्दाख में प्रशासन ने कोविड-19 जांच प्रयोगशाला शुरू की है। हमारे लेह संवाददाता ने खबर दी है कि स्‍वास्‍थ्‍य विभाग वर्तमान में संदिग्‍धों के खून के नमूने दिल्‍ली के नेशनल सैन्‍टर फॉर डिजीज कन्‍ट्रोल को भेज रहा है।

---------------------

कोविड-19 की जांच किट और पुणे के नेशनल इंस्‍टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी के विशेषज्ञ डॉक्‍टर हिंजे की गोवा में आवश्‍यकता को देखते हुए कल शाम आईएनएस हंस से एक डोर्नियर विमान रवाना हुआ। डॉक्‍टर हिंजे जांच सुविधा के संबंध में गोवा मेडिकल कॉलेज के वायरोलॉजी लैब में सूक्ष्‍म जैव-वैज्ञानिकों को प्रशिक्षण देंगे।


भारतीय नौसेना मौजूदा कोविड-19 से उत्‍पन्‍न संकट के समय नागरिक प्रशासन की सहायता कर रही है।

---------------------

देशभर में लोग लॉकडाउन के दौरान अपने घरों में रहकर सरकार की अपील का पालन कर रहे हैं। वर्तमान स्थिति से निपटने के लिए लोगो ने अपने आपको को घर के भीतर विभिन्न गतिविधियों में व्यस्त रखा हुआ है। कुछ लोग घर-गृहस्थी के काम निपटा रहे हैं, कुछ खेलों में समय बिता रहे हैं तो कुछ पुस्तकें पढ़ने, बागबानी और अपनी-अपनी रूचियों की गतिविधियों में व्यस्त हैं। हमने कुछ लोगों से बात की, जिन्होंने लॉकडाउन के दौरान अपने समय बिताने के तरीकों को साझा किया।


मैं संजय बोल रहा हूं चेन्‍नई सीटी से। मैं यहां पर एक मल्‍टीनेशनल कंपनी के लिए काम करता हूं, तो अभी तो लॉकडाउन सिचवेशन है, तो उसमें हम लोग वर्क फरोम होम कर रहे हैं। ज्‍यादा खुशी की बात यह है कि हम लोग टाइम स्‍पेंड कर रहे हैं बच्‍चों के साथ, उन लोगों के साथ खेलने में बहुत मजा आ रहा है अभी। उसके अलावा भी जो टाइम मिलता है उसमें नेट में ऑनलाइन अपना हिस्‍ट्री, जॉगरफी, लोगों का बायोग्राफी पढ़ने में मजा आता है और बहुत कुछ सीखने को मिल रहा है। मेरा नाम निवेदिता है और मैं रांची से बोल रही हूं। एक्‍चुअली इस लॉकडाउन के दौरान मैं रोज दिन की शुरुआत एक पॉजिटिविटी के साथ करती हूं क्‍योंकि यकीनन ये हमारे भले के लिए ही किया गया है। कभी-कभी अच्‍छा लग रहा है कि मैं खुद को, अपने फैमिली मेम्‍बर को टाइम दे पा रही हूं। मेरी छोटी सी बेटी है, जिसके ऑनलाइन क्‍लासेज भी स्‍टार्ट हो गए हैं, तो मैं उसकी मदद करती हूं और मेरे पापा हैं, जिनकी उम्र काफी हो चुकी है। अपने विजी शेडयूल की वजह से हम उनको टाइम नहीं दे पाते थे। लॉकडाउन के दौरान उनको काफी समय दे पा रहे हैं, तो काफी अच्‍छा लगता है। मैं डॉ. विजेन्‍द्र सिंह, कविविजन गांव बली जिला बागपत उत्‍तर प्रदेश, मैं लॉकडाउन का पूरा-पूरा पालन कर रहा हूं। मेरे घर के पास में ही बागवानी है, उसमें मैंने सारी फसल उगा रखी है, तो मैं रोज अपनी बागवानी में अपनी फसलों की देखभाल करता हूं।

मेरा नाम शिवा कुमारी सिंह है मैं फरीदाबाद में रहती हूं। अभी लॉकडाउन में पीरियड में मैं तो वर्क फरोम होम कर रही हूं और साथ ही साथ मैं अपने घर का भी ध्‍यान रख रही हूं। अपनी बेटी का ध्‍यान रख रही हूं, उसकी पढ़ाई का ध्‍यान रख रही हूं। घर की सारी चीजों को मैनेज कर रही हूं। मैं सारे काम को देखते हूं अभी अपना पीरियड सही तरह से स्‍लाइड कर रही हूं और इस लॉकडाउन पीरियड में गवर्न्मंट की सारी बातों को ध्‍यान में रखते हुए अपने काम को पैरटी में रख रही हूं। 


मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी सुधीर कुमार डेहरिया ने बताया कि इनमें से 5 लोग स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी हैं और सात मरीज पुलिस और उनके परिवार के सदस्य हैं। भोपाल में दो संक्रमित मरीज इलाज के बाद घर चले गए हैं और एक व्यक्ति की मौत हो गई है।

---------------------

अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने आज लोगों से अपील की कि शबे-बारात के अवसर पर लॉकडाउन और सामाजिक दूरी के दिशा-निर्देशों का कड़ाई और ईमानदारी से पालन करें। उन्होंने लोगों से कहा कि अपने घर के अंदर ही नमाज़ और अन्य धार्मिक गतिविधियां पूरी करें। श्री नकवी ने कहा कि लगभग सभी धर्म गुरुओं, धार्मिक और सामाजिक संगठनों ने मुस्लिम समुदाय से अपील की है कि शबे-बारात के अवसर पर लॉकडाउन और सामाजिक दूरी के दिशा-निर्देशों का ईमानदारी से पालन करें।


केन्द्रीय वक्फ परिषद के जरिए सभी राज्यों के वक्फ बोर्ड को निर्देश दिया गया है कि शबे-बारात के मौके पर लॉकडाउन लागू करने में स्थानीय प्रशासन के साथ सहयोग करें और लोगों से धार्मिक गतिविधियां घर के भीतर ही पूरी करने की अपील करें। श्री नकवी ने कहा कि पूरा देश प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अपील पर गंभीरता और ईमानदारी से लॉकडाउन और सामाजिक दूरी के दिशा-निर्देशों का पालन कर रहा है। उन्होंने कहा कि किसी भी प्रकार की लापरवाही हमारे परिवार, समाज और समूचे देश के लिए नुकसानदायक हो सकती है।

---------------------

तेलंगाना में पुलिस ने 16 इंडोनेशियाई नागरिकों समेत 20 से अधिक लोगों के खिलाफ वीज़ा नियमों का उल्लंघन करते हुए धार्मिक गतिविधियां आयोजित करने और लॉकडाउन के आदेशों की अवहेलना के आरोप में मामले दर्ज किए हैं। इन लोगों को मदद करने वाले व्यक्तियों को भी नामजद किया गया है। इन लोगों ने धार्मिक स्थलों पर छुपकर धार्मिक गतिविधियां कीं और कोरोना वायरस फैलाया।

---------------------

Live Twitter Feed

Listen News

Morning News 30 (May) Midday News 30 (May) News at Nine 30 (May) Hourly 30 (May) (2300hrs)
समाचार प्रभात 30 (May) दोपहर समाचार 30 (May) समाचार संध्या 30 (May) प्रति घंटा समाचार 30 (May) (2305hrs)
Khabarnama (Mor) 30 (May) Khabrein(Day) 30 (May) Khabrein(Eve) 30 (May)
Aaj Savere 30 (May) Parikrama 30 (May)

Listen Programs

Market Mantra 30 (May) Samayki 30 (May) Sports Scan 23 (Mar) Spotlight/News Analysis 30 (May) Samachar Darshan 22 (Mar) Radio Newsreel 21 (Mar)
    Public Speak

    Country wide 12 (Mar) Surkhiyon Mein 30 (May) Charcha Ka Vishai Ha 11 (Mar) Vaad-Samvaad 17 (Mar) Money Talk 17 (Mar) Current Affairs 6 (Mar)
  • Money Matters 22 (Mar)
  • International News 22 (Mar)
  • Press Review 23 (Mar)
  • From the States 23 (Mar)
  • Let's Connect 22 (Mar)
  • 360°- Ek Parivesh 23 (Mar)
  • Know Your Constitution 30 (Jan)
  • Ek Bharat Shreshta Bharat 22 (Mar)
  • Sanskriti Darshan 23 (Mar)
  • Fit India New India 23 (Mar)
  • Weather Report 21 (Mar)
  • North East Diaries 22 (Mar)
  • 150 Years of Bapu 22 (Mar)
  • Sector Specific Discussions 22 (Mar)